Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

दो बच्चों का अपहरण करने वाले 12 घंटे के अंदर हुये गिरफ्तार, पुलिस टीम को 50 हजार रुपये देकर पुलिस महानिरीक्षक ने किया पुरस्कृत

उरई जालौन। दो बच्चों का अपहरण करके निकले अभियुक्तों को 12 घंटे के अंदर गठित पुलिस टीम द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया इनके हौसला अफजाई करने के लिए पुलिस महा निरीक्षक ने 50 हजार रुपये देकर इनको पुरस्कृत किया।पुलिस अधीक्षक डॉ यशवीर सिंह व अपर पुलिस अधीक्षक डॉ अवधेश सिंह ने सयुंक्त रूप से इस मामले का खुलासा पुलिस लाइन में करते हुए बताया कि 7 नवंबर को श्रीमती सुखदेवी पत्नी जितेन्द्र सिंह निवासी ग्राम जयसिंगपुर थाना सिरसा कलार द्वारा अपनी पुत्री रेखा देवी व उसके दो बच्चों के साथ 1 नवंबर को 12 बजे से कस्बा सिरसा कलार से लापता थी।


इस संबंध में उसने थाना सिरसा कलार में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। उक्त घटना में 9 नवंबर को वादी के मोबाइल पर नंबर 9009344904 पर मोबाइल नंबर 7042236964 करीब 11:15 बजे फोन करके फिरौती की मांग की कि यदि पत्नी व बच्चों के सलाम की चाहते हो तो 20 लाख रुपये लेकर जनपद उन्नाव में मिलो। इस संबंध में अनुराग कुशवाहा उपरोक्त की तहरीर दी सूचना पर मुकदमा अपराध संख्या 111/20 धारा 364A बनाम मोबाइल नंबर 7042236964 के धारक नाम पता अज्ञात के विरुद्ध पंजीकृत किया गया था। वहीं पुलिस अधीक्षक द्वारा एक गठित टीम की गई जिसमें थाना सिरसा कलार पुलिस एसओजी व सर्विलांश सेल की संयुक्त टीम को लगाया गया था। टीम ने शुभम पुत्र रामविजय निवासी ग्राम गोदाहा थाना रामपुरा जनपद सीतापुर, गोविंद बहेलिया पुत्र कल्लू अर्जुन निवासी ग्राम मटियारी थाना थानगांव जिला सीतापुर, हरिओम मिश्रा उर्फ दिवाकर मिश्रा पुत्र देवेंद्र कुमार मिश्रा निवासी ग्राम पाराराम नगरा थाना रामपुर मथुरा जिला सीतापुर द्वारा श्रीमती रेखा देवी पत्नी अनुराग कुशवाहा निवासी ग्राम सरावन थाना गोहन तथा पुत्र दिव्य उम्र साढ़े तीन बजे आशु 10 माह पुत्रगण अनुराग कुशवाहा अपहर्ता एवं उनके दोनों बच्चों को ग्राम गोदाहा उक्त अभियुक्तों के यहां से बरामद किया। पूछताछ के दौरान बताया कि रेखा ने मेरी वीवो ऐप के जरिये बातचीत शुरू हुई थी। धीरे-धीरे मैंने उनको प्रेम जाल में फंसा लिया था और रेखा 1 नवंबर को लखनऊ स्थित चारबाग बस अड्डे पर बुला लिया था वह इसके रेखा व उनके बच्चों अपने गांव गोदाहा ले जाकर अपने मकान में रखा था और इसके अपने मित्र गोविंद व हरिओम ने योजनाबद्ध तरीके से रेखा के परिजनों से अप्रहता व उनके बच्चों को छोड़ने के लिए दो लाख रुपये की फिरौती मांगी गई थी। इसमें गिरफ्तार करने वाली टीम को पुलिस महा निरीक्षक झांसी परीक्षेत्र झांसी द्वारा 50 हजार रुपये देकर पुरस्कृत किया गया। गिरफ्तार करने वाली टीम में अशोक कुमार वर्मा थाना सिरसा कलार, अजय कुमार सिंह सर्विलांस प्रभारी, उ0 नि0 चंदन पांडे, नीतू कुमार, अश्वनी प्रताप सिंह, विनय प्रताप सिंह, निरंजन सिंह, एसओजी टीम रामचंद्र वर्मा, दिलीप बर्मा, सौरभ दुबे, अनुज कुमार, उमेश कुमार, विजय प्रताप, थाना सिरसा कलार गौरव बाजपेई, जगदीश चंद्र, कर्मवीर सिंह, रोहित सिंह रावत सर्विलांस सेल आदि मौजूद रहे।