Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

एसआइटी करेगी बैराज-मंधना रोड पर अवैध प्लाटिंग की जांच, जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति की बैठक में उठा मुद्दा

एसआइटी करेगी बैराज-मंधना रोड पर अवैध प्लाटिंग की जांच


जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति की बैठक में उठा मुद्दा


अध्यक्ष सांसद अशोक रावत ने प्रशासन को दिए जांच के आदेश


 बिल्डरों ने ग्राम समाज, तालाब और चकरोड की भूमि पर कब्जा कर प्लाटिंग की


ब्यूरो कार्यालय (कानपुर):बैराज-मंधना रोड पर अवैध तरीके से की जा रही प्लाटिंग का मुद्दा जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति (दिशा) की बैठक के दौरान उठा। अध्यक्ष अशोक रावत (सांसद) ने गंगा बैराज के पास अवैध तरीके से प्लाटिंग के मुद्दे पर प्रशासन को जांच कराने के आदेश दिए। बैठक में एसआइटी से जांच करने की सहमति के बाद डीएम औपचारिक संस्तुति भी कर दी है। प्रकरण की जांच एसआइटी करेगी और डीएम जल्द ही जांच अधिकारियों को नामित करेंगे।


समित के अध्यक्ष सांसद अशोक रावत ने कहा है कि जांच रिपोर्ट जल्द से जल्द दी जाए ताकि कार्रवाई सुनिश्चित कराई जा सके। विकास भवन में आयोजित दिशा की बैठक में महापौर और सांसदों ने भी कई मुद्दों पर अपनी बात रखी।


विकास भवन में जिला विकास समन्वय और निगरानी समिति की बैठक का आयोजन हो रहा है। गंगा बैराज, मंधना के आसपास अवैध तरीके से प्लाटिंग का मुद्दा उठते हुए कमेटी अध्यक्ष सांसद अशोक रावत ने कहा कि बिल्डरों ने ग्राम समाज, तालाब और चकरोड की भूमि पर कब्जा करके प्लाटिंग कर दी है। जिलाधिकारी प्रकरण में कमेटी गठित करके जांच कराएं और रिपोर्ट दें। इस पर समित के सदस्यों ने एसआइटी से जांच कराने की सहमति दी। डीएम ने भी संस्तुति कर दी। महापौर प्रमिला पांडेय ने तालाब, सरकारी भूमि पर कब्जा करके प्लाटिंग और आसपस हो रहे कब्जों का मुद्दा उठाया।


बैठक में सीडीओ डॉ. महेंद्र कुमार ने कहा कि राष्टीय आजीविका मिशन के तहत स्वयं सहायता समूहों के लोगों को मनरेगा के तहत कार्य दिए जाएंगे। सांसद सत्यदेव पचौरी ने कहा कि समूह के लोगों को विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना, पीएम रोजगार सृजन योजना के तहत लाभान्वित करें और उन्हें सिलाई मशीनें दी जाएं। एमएलसी अरुण पाठक ने पीएम कौशल विकास योजना में मिले रोजगार का ब्योरा मांगा। सांसद अशोक रावत ने कहा कि यदि इसकी निगरानी नहीं हो रही है तो फिर मनमानी हो रही होगी।


प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना पर सांसद देवेंद्र सिंह भोले ने सड़कों के चयन के तरीके पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि सांसद की स्वीकृति के पहले ही शासन को सूची कैसे दी जा रही है, यह तरीका बदलें। अधिशाषी अभियंता के अनुपस्थिति पर विभागीय कार्रवाई का आदेश कमेटी अध्यक्ष अशोक रावत ने दिया। बैठक में डीएम आलोक कुमार, नगर आयुक्त अक्षय त्रिपाठी, विधायक भगवती सागर उपस्थित रहे।


मीटिंग में सांसद देवेंद्र सिंह भोले ने कहा कि जब तक लोग सोकर उठें, उससे पहले सड़कों का कूड़ा उठ जाए ताकि शहर साफ दिखें। भोले ने कहा कि मोतीझील में पर्यटन विभाग काम कर रहा है और आडिटोरियम जल्द पूरा कराया जाए। गवर्निंग कमेटी में सांसद को शामिल किया जाए। घाटमपुर पावर प्लांट को पानी की उपलब्धता समय से कराना सुनिश्चित किया जाए। इसके लिए पाइप लाइन का काम तेजी से कराया जाए।