Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

मासूम की निर्मम हत्या:शरीर के कई अंग गायब होने की वजह से ग्रामीणों ने किया हंगामा

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मामले को संज्ञान में लिया


-दीपावली की रात्रि से लापता था 6 साल की श्रेयी उर्फ भूरी


-रविवार सुबह गांव के बाहर खेत में लाश मिलने से सनसनी


-शरीर के कई अंग गायब होने की वजह से ग्रामीणों ने किया हंगामा


-चार घंटे बाद शव को कब्जे में ले सकी घाटमपुर पुलिस


-तनाव के मद्देनजर भदरस गांव में भारी पुलिस बल तैनात


ब्यूरो कार्यालय (कानपुर):कानपुर के घाटमपुर एरिया के भदरस गांव में मासूम बच्ची की निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई। बच्ची दीपावली की शाम को लापता हो गई थी। संडे की सुबह उसका शव गांव के बाहर खेत में पड़ा मिला तो सनसनी फैल गई। बच्चे की गर्दन काटने के साथ-साथ कातिलों ने उसका पेट भी फाड़ दिया था। ग्रामीणों और परिजनों ने शरीर के कई अंग लापता होने की आशंका जताते हुए काफी देर तक पुलिस के सामने हंगामा भी किया। पुलिस करीब चार घंटे बाद शव को कब्जे में ले सकी। पूरे घटनाक्रम में राजनीतिक माहौल गर्माया तो सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मामले को संज्ञान में लेते हुए अफसरों को त्वरित कार्रवाई के आदेश दिए। पुलिस ने दो लोगों को अब तक गिरफ्तार किया है। मासूम की हत्या क्यों की गई ? इस बिन्दु पर फिलहाल पुलिस की जांच और छानबीन जारी है। ग्रामीणों ने तंत्र-मंत्र के चक्कर में हत्या कर शव खेत में फेंके जाने का आरोप लगाया है।


घाटमपुर के भदरस गांव निवासी करन कुरील की बेटी श्रेया उर्फ भूरी (6) शनिवार शाम घर के बाहर खेल रही थी। परिवार के कुछ सदस्य खेत की ओर गए थे और महिलाएं दीपावली पर्व की तैयारी कर रही थीं। परिजनों के मुताबिक जब दीया रखने के लिए के लिए बच्चों को बुलाया गया तो उसकी दोनों बेटियां आईं लेकिन बीच की बेटी भूरी नहीं आई। भूरी को न पाकर परिजनों ने खोजबीन शुरु की लेकिन देर रात्रि तक उसका सुराग नहीं लगा।


संडे की सुबह गांव के लोग खेत की ओर निकले तो गन्नू तिवारी के सरसों के खेत में बच्ची का रक्तरंजित शव पड़ा मिला। मौके पर काफी खून पड़ा था, बच्ची के शरीर पर कपड़ा नहीं था। गर्दन कटी थी, चेहरे पर नुकीले हथियार से प्रहार किया गया था। पेट भी फड़ा मिला। सीने के दोनों तरफ काफी गहरी चोट थी। मौके पर नमकीन के खाली पैकेट भी मिले हैं। बच्ची के पैरों में रंग लगा होने की वजह से तंत्र-मंत्र की आशंका ग्रामीणों ने जताई। थोड़ी देर में परिवार के सदस्य भी पहुंच गए। सूचना पर पहुंची पुलिस को ग्रामीणों के गुस्से का सामना करना पड़ा। आक्रोशित ग्रामीणों ने बच्ची की लाश नहीं उठने दी। बवाल की आशंका के मद्देनजर कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंची। करीब चार घंटे की मशक्कत के बाद पुलिस शव को कब्जे में ले सकी।


उधर, सोशल मीडिया पर कांग्रेस ने बच्ची के निर्मम हत्याकांड को उठाया तो सियासत गर्म हो गई। लखनऊ में बैठे अफसरों ने कानपुर के अफसरों को त्वरित कार्रवाई के आदेश दे। थोड़ी ही देर में पुलिस और प्रशासन के तमाम आला अफसर मौका-ए-वारदात पर पहुंच गए। अफसरों ने पीड़ित परिवार से मुलाकात कर जल्द से जल्द कातिलों को गिरफ्तार करने का भरोसा दिया। पुलिस ने अंकुर कुरील और वीरेंद्र कुरील को गिरफ्तार किया है। दोनों ने हत्या का जुर्म स्वीकार किया है। पुलिस ने हत्या में प्रयुक्त गमछा भी बरामद कर लिया। पुलिस अफसरों का कहना है कि पूछताछ जारी है। हत्या क्यों की गई ? इसकी छानबीन की जा रही है।


सीएम ने मामले को संज्ञान में लिया


श्रेया उर्फ भूरी के वीभत्स हत्याकांड की खबर सोशल मीडिया पर तमाम राजनीतिक दलों ने पोस्ट की। जिसके बाद सूबे के मुख्यमंत्री ने मामले को संज्ञान में लेते हुए कानपुर पुलिस प्रशासन को कड़ी कार्रवाई के निर्देश जारी किए। मुख्यमंमत्री योगी आदित्यनाथ ने शोक संतप्त परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए पांच लाख रुपए की आर्थिक मदद किए जाने का निर्देश जारी किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार इस प्रकरण की फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई कराकर अपराधियों को जल्द से जल्द सजा दिलाएगी।