Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

मिशन शक्ति की शक्ति बढ़ाने को दस विभागों के मास्टर ट्रेनर तैयार 


सभी विभाग समन्वय के साथ करेंगे काम, ब्लॉक स्तर पर ट्रेनर्स करेंगे जागरूक 


प्रयागराज, 12 नवम्बर 2020- जनपद के एम.एन.एन.आई.टी. कॉलेज के सभागार में उत्तर प्रदेश शासन द्वारा संचालित विशेष अभियान मिशन शक्ति के अंतर्गत महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा, समानता एवं स्वावलम्बन पर विशेष कार्यशाला का आयोजन हुआ। जनपद के संबन्धित विभागों ने अभियान के लक्ष्य प्राप्ति के लिए अन्तर्विभागीय समन्वय स्थापित करते हुए संयुक्त ट्रेनिंग का आयोजन किया जिसमें मिशन शक्ति के अन्तर्गत सभी दस विभागों को शामिल किया गयाI इसका मुख्य उद्देश यह है कि सभी विभाग अलग-अलग कार्य न करे बल्कि संयुक्त रूप से समन्वय के साथ कार्य करें जिससे हर विभाग को अन्य विभाग की योजनाओ का ज्ञान हो सके और वे अपने स्तर पर किसी भी महिला या बालिका को पूरा सहयोग कर सकें और मिशन को और गति मिल सके। 


जिले के आई.जी. कविन्द्र प्रताप सिंह ने कार्यशाला में संबोधित करते हुए बताया कि इसका मुख्य उद्देश्य यह है कि सभी विभाग अलग-अलग कार्य न करें बल्कि संयुक्त रूप से समन्वय के साथ कार्य करें जिससे हर विभाग को अन्य विभाग की योजनाओ का ज्ञान हो सके और सभी विभाग मिल कर महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा, समानता एवं स्वावलम्बन हेतु कार्य कर सकें और सहयोग दे सकेंI इसके लिए सभी विभागों की संयुक्त बैठक भी की गई थी जिसमें यह निर्णय हुआ कि हमें अपनी योजनाओ और कार्यक्रमों के बारे में हर स्तर पर जागरूकता फ़ैलाने के लिए ट्रेनर्स की आवश्यकता है, जिसके बाद इस ट्रेनर्स की ट्रेनिंग का आयोजन किया गया है I लैंगिक असमानता पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि वह हर काम जो पुरुष कर सकते हैं वो महिलायें भी कर सकती हैI 


स्वास्थ्य विभाग, महिला कल्याण विभाग, आई.सी.डी.एस., पंचायती राज विभाग, डूडा, शिक्षा विभाग, राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन व श्रम विभाग के प्रतिनिधियों ने अपने-अपने विभाग की महिलाओं व बालिकाओं से संबन्धित सरकारी योजना और सहायता कार्यक्रम के बारे में प्रत्येक कल्याणकारी योजनाओं पर प्रकाश डालते हुए मास्टर ट्रेनर्स को बताया जिसमें लैंगिक असमानता, महिला स्वास्थ एवं महिला सुरक्षा व कानून पर प्रशिक्षण दिया गया। उक्त कार्यशाला में संबन्धित विभागों के विकासखण्ड स्तरीय कर्मचारियों एवं एण्टी रोमियो स्क्वाड के प्रतिनिधियों तथा महिला हेल्पडेस्क के प्रतिनिधियों को प्रशिक्षण देने के साथ-साथ जनता के बीच महिलाओं व बालिकाओं से समन्वय स्थापित करने के तरीकों पर चर्चा हुयी।  


कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर ए.डी.जी. ज़ोन प्रेम प्रकाश, एस.एस.पी. सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी, सी.डी.ओ. आशीष कुमार, अपर निदेशक चिकित्सा डॉ. मोहन, डी.एच.इ.आई.ओ, आई.सी.डी.एस. से जिला कार्यक्रम अधिकारी मनोज कुमार राव, उपनिदेशक पंचायती राज, सहायक निदेशक बेसिक(शिक्षा), संयुक्त निदेशक उच्च शिक्षा, संयुक्त निदेशक, माध्यमिक शिक्षा, उपाआयुक्त(एन.आर.एल.एम.), परियोजना अधिकारी डूडा मौजूद रहे।