Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

पार्षद का धरना, केडीए-जलकल की टीम पहुंची, खुली पोल-वार्ड- 45 बर्रा विश्व बैंक में पार्षद अर्पित यादव का धरना


पार्षद का धरना, केडीए-जलकल की टीम पहुंची, खुली पोल


 वार्ड- 45 बर्रा विश्व बैंक में पार्षद अर्पित यादव का धरना


मौके पर पहुंची टीम को कई सीवरों के जाम मिले ढक्कन


16 करोड़ 96 लाख रुपये से सीवर लाइन को चालू कराने के लिए धरना


ब्यूरो कार्यालय (कानपुर):पार्षद अर्पित यादव के धरने के बाद बुधवार को केडीए और जलकल की संयुक्त टीम ने वार्ड नंबर (45) विश्व बैंक बर्रा में पहुंचकर निरीक्षण किया। जलकल के अधिशासी अभियंता कुमार गौरव, अवर अभियंता अनिल यादव और केडीए के सहायक अभियंता सी.के अरोड़ा व अवर अभियंता पी.के गुप्ता ने मातहत कर्मचारियों के साथ गली-गली जाकर सीवर के चेंबर खुलवा कर देखे। ज्यादातर सीवर के ढक्कन ही जाम मिले। 


एक ब्लॉक में कुल 260 सीवर चैंबर है। निरीक्षण के दौरान 200 चेंबर बिना सीट कवर के बने पाए गए। इसी तरह से विश्व बैंक ई ब्लाक में मकान नंबर 323 के पास व ब्लाक में 565 के पास लाइन में गैप मिला। डी ब्लाक कामद स्कूल के पास सीवर ढक्कन जाम मिला। चार ब्लाकों में 900 सीवर चेंबर ऐसे पाए है जिनमें सफाई की सख्त जरूरत थी। 


गौरतलब है कि पार्षद अर्पित यादव यादव की तरफ से केडीए बोर्ड बैठक के दौरान विश्व बैंक कॉलोनी मे डाली गई 16 करोड़ 96 लाख रुपय से सीवर लाईन को चालू करने के लिए धरना दिया गया था। जिसके बाद केडीए व जलकल की संयुक्त टीम निरीक्षण करने के लिए पहुंची।  


सपा सरकार में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने इस कार्य का शिलान्यास किया था। आरोप है कि कार्य पूरा भी नहीं हुआ और सरकार बदलते ही उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने यूपी दिवस के दिन लोकार्पण करा दिया। पार्षद अर्पित यादव ने बताया कि समय पर जनता की समस्याओं का समाधान न हुआ तो भ्रष्ट अधिकारियों और ठेकेदार के खिलाफ दर्ज कराया जाएगा मुकदमा।