Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

गांवों में अन्ना मवेशियों का आतंक, सैकड़ों की संख्या में जनपद से भी आए हैं अन्ना मवेशी


ग्रामीणों की शिकायत के बाद भी प्रशासनिक अफसरों की कान में नहीं रेंग रही जूं


ब्यूरो कार्यालय (सरसौल):महाराजपुर के गंगा नदी के किनारे बसे गांवो (कटरी) में इन दिनों अन्ना मवेशियों के आतंक से "अन्नदाता" परेशान हैं। मवेशियों की बेहिसाब आमद ने कटरी के ग्रामीणों का सुख-चैन तीन लिया है। आधी रात को अन्ना मवेशियों के झुंड किसानों की फसल को खा रहे हैं। ग्रामीणों द्वारा शिकायत के बावजूद प्रशासन समस्या के हल निकालने के बजाय बेपरवाह बना है। ग्रामीणों का कहना है यही हालात रहे तो किसान को भारी आर्थिक नुकसान सहना पड़ सकता है।


 


 महाराजपुर कटरी में बसे डोमनपुर, डिबियापुर देवशन खेड़ा, गौशाला आदि गांवो में इन दिनों आवारा पशुओं की आमद भारी संख्या देखी जा रही है। ये अन्ना मवेशी खेतों में खड़ी फसल को नुकसान पहुंचा रहे हैं। डोमन पुर गांव के निवासी कप्तान सिंह, राजेश सिंह,सुखराज सिंह, संतराम, दिनेश, किशन लाल,मुन्ना कुशवाहा ने बताया कटरी का गांव होने की वजह से उन्नाव जनपद के अन्ना मवेशी गंगा नदी पार कर इन दिनों आ गए हैं। जिससे भारी तादाद हो गई। जो खेतों में खड़ी मिर्च, मटर, गोभी अन्य सब्जी की फसलो को नुकसान पहुंचा रहे हैं। फसलों की रखवाली के लिए किसानो को रात-रात भर जागकर खेतों की रखवाली के लिए पहरेदारी करनी पड़ रही है। फिर भी मौका पाते ही जानवर खेतो में खड़ी फसल चर जाते है। 


 जिससे किसानों को भारी आर्थिक नुकसान उठाना पड़ रहा है ऐसा नहीं की इस समस्या के निदान के लिए गांव वालों ने प्रयास नहीं किया कई बार प्रशासन से गुहार लगाई लेकिन प्रशासन किसानों की इस समस्या पर ध्यान नहीं दे रहा है। 


प्रधानमंत्री जन कल्याण योजना के मीडिया प्रभारी गुंजन सिंह ने बताया की एसडीएम नरवल और बीडीओ को किसानों की समस्या से अवगत कराया गया है लेकिन प्रशासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। किसान फसलों में हो रहे आर्थिक नुकसान को भुगतने के लिए मजबूर हैं ।