Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

परिवार नियोजन में पुरुषों की साझेदारी, जीवन में लाए स्वास्थ्य और खुशहाली’ पर आधारित होगा कार्यक्रम...

 


 


 


सरवन शर्मा कि रिपोर्ट.... 


दो चरणों में चलेगा कार्यक्रम, संवेदीकरण के साथ सेवाएं दी जायेंगी 


महिलाओं की अपेक्षा पुरुष नसबंदी बहुत आसान - सत्येन राय 


प्रयागराज, 19 नवम्बर 2020- वर्तमान में देश कोविड-19 महामारी के साथ संघर्ष कर रहा है इसके बावजूद गुणवत्ता परक प्रजनन स्वास्थ्य सेवाओं की पहुँच जन समुदाय तक बनाये रखने के लिए स्वास्थ्य विभाग प्रयासरत है। इसी क्रम में 21 नवम्बर से 4 दिसम्बर तक पुरुष नसबंदी पखवाड़े का आयोजन किया जा रहा है। इसके तहत पुरुष लाभार्थियों का परिवार नियोजन पर संवेदीकरण के साथ गुणवत्तापूर्ण नसबंदी सेवाएं प्रदान की जाएगी। 


अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी व परिवार कल्याण नोडल डॉ. सत्येन राय ने बताया कि 21 नवम्बर से 4 दिसम्बर तक पुरुष पखवाड़े के दौरान ‘परिवार नियोजन में पुरुषों की साझेदारी, जीवन में लाए स्वास्थ्य और खुशहाली’ थीम के आधार पर प्रथम चरण में 21 से 27 नवम्बर तक लक्षित दम्पत्तियों को परिवार नियोजन के प्रति संवेदीकरण के साथ व्यापक प्रचार-प्रसार किया जायेगा। द्वितीय चरण में 28 नवम्बर से 4 दिसम्बर तक सेवा प्रदायगी सप्ताह के तहत विभिन्न गतिविधियों का आयोजन किया जायेगा और स्वास्थ्य केन्द्रों पर पुरुष नसबंदी की सेवाएं दी जायेंगी।


डॉ. सत्येन राय ने बताया कि शारीरिक बनावट के आधार पर महिलाओं की अपेक्षा पुरुष नसबंदी बहुत ही सरल और आसान होती है। पखवाड़े के प्रथम सप्ताह में आशा व ए.एन.एम. परिवार नियोजन में पुरुषों की सहभागिता, परिवार नियोजन के उपलब्ध साधनों की जानकारी, सीमित परिवार के लाभ, विवाह की सही आयु (लड़के की 21 वर्ष एवं लड़की की 18 वर्ष, विवाह के बाद कम से कम दो साल बाद पहला बच्चा, पहले व दूसरे बच्चे में 3 साल का अंतर, प्रसवोत्तर व गर्भपात पश्चात परिवार कल्याण सेवाओं की जानकारी दी जाएगी। इसके साथ ही स्वास्थ्य केन्द्रों पर कार्यरत महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता, परामर्शदाता तथा आशा संगिनी द्वारा लाभार्थियों को परिवार नियोजन के स्थाई व अस्थाई साधनों तथा पुरुष नसबंदी पखवाड़े की जानकारी दी जाएगी। स्वास्थ्य केन्द्रों पर लाभार्थियों के लिए सुलभ स्थान पर कंडोम बॉक्सेज भी स्थापित किए जाएंगे। डॉ. सत्येन राय ने बताया कि पुरुष नसबंदी के बाद लाभार्थी को 3000 रुपये की प्रोत्साहन राशि भी दी जाती है। इसके अलावा महिला नसबंदी के लिए लाभार्थी को 2000 रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जाती है। 


बास्केट ऑफ़ च्वाईस के माध्यम से आशा व एएनएम देंगी परिवार साधनों की जानकारी-


जिला फैमिली प्लाइनिंग लॉजिस्टिक मैनेजर सचिन चौरसिया ने बताया कि दंपत्ति सम्पर्क चरण के तहत गांवों में 21 से 27 नवम्बर तक आशा, एएनएम व आशा संगिनी द्वारा योग्य दम्पतियों को पुरुष गर्भ निरोधक साधनों के लिए संवेदीकरण, चिन्हीकरण एवं पंजीकरण किया जाएगा। वहीं प्रचार-प्रसार सामग्री के माध्यम से पुरुष नसबंदी की जानकारी दी जाएगी। पुरुष नसबंदी पखवाड़े की जानकारी देने के साथ जनप्रतिनिधियों का परिवार पूर्ण पुरुषों को नसबंदी अपनाने के लिए प्रेरित करने में सहयोग लिया जाएगा। सेवा वितरण सप्ताह के दौरान गुणवत्तापूर्ण पुरुष नसबंदी सेवाएं प्रदान की जाएगी।