Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

उत्तर प्रदेश किसान सभा ने केंद्र की मोदी सरकार , हरियाणा और उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा बॉर्डर पर किसानों को अपने देश की राजधानी में ही न जाने देने की कड़ी आलोचना की


इटावा । उत्तर प्रदेश किसान सभा ने केंद्र की मोदी सरकार , हरियाणा और उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा बॉर्डर पर किसानों को अपने देश की राजधानी में ही न जाने देने की कड़ी आलोचना करते हुए उन पर आंसू गैस, लाठीचार्ज , ठंडे पानी की बौछार और गिरफ्तारिओं की कड़ी निंदा करते हुए तीनों काले कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग की ।‌ तथा किसानों को राजधानी में प्रवेश करने, गिरफ्तार किसानों को रिहा करने की मांग उठाई।


पूरे प्रदेश भर में आज किसान सभा द्वारा विरोध कार्रवाई की जा रही है। किसान सभा के महामंत्री मुकुट सिंह द्वारा उक्त बयान जारी किया गया । इटावा के यासी नगर में पूर्व जिला अध्यक्ष अमर सिंह शाक्य और जिला मंत्री संतोष शाक्य के नेतृत्व में पुतला दहन और प्रतिरोध किया गया । जिले के करीब दर्जनभर स्थानों पर प्रतिरोध किया गया।