Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

डीएम की अध्यक्षता में कोविड-19 टीकाकरण अभियान पर बनी रणनीति, एकीकृत कोविड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर के सभागार में हुई हाईप्रोफाइल बैठक



लखीमपुर खीरी :मंगलवार को डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह की अध्यक्षता एवं सीएमओ डॉ मनोज अग्रवाल की मौजूदगी में जिले में वैक्सीन उपलब्ध होने के पश्चात कोविड-19 टीकाकरण वृहद स्तर पर चलाए जाने के संबंध में रणनीति तय हुई।

बैठक की अध्यक्षता करते हुए डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने कहा कि कोविड-19 वैक्सीन शीघ्र उपलब्ध होने की प्रबल संभावना है। इस क्रम में शासन से प्राप्त निर्देशों के क्रम में कोल्ड चैन संबंधी व्यवस्थाएं, कोविन पोर्टल संबंधी डाटा अपलोडिंग, प्रशिक्षण तथा हेल्थ केयर वर्कर डाटा अपलोड किए जाने के संबंध में जिला स्तर पर किए गए कार्यों की समीक्षा की एवं संबंधित को आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि शासन से प्राप्त निर्देशों के क्रम में शीघ्र ही टीकाकरण का कार्य चरणबद्ध तरीके से किया जाना संभावित है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के प्रथम चरण के टीकाकरण के संबंध में भारत सरकार से प्राप्त दिशा निर्देशो का पूर्णतया अनुपालन कराए जाने के संबंध में अभी से अपनी कमर कस लें।

सीएमओ डॉ मनोज अग्रवाल ने बताया प्रत्येक सत्र में छह कर्मियों की तैनाती की जाएगी। जिसमें दो सुरक्षाकर्मी, एक जांचकर्ता, एक वैक्सीनेटर एवं एक मोबिलाइजर शामिल है। टीकाकरण अभियान के प्रथम चरण हेतु स्थलों का चयन एसओपी के अंतर्गत किया जाएगा। उन्होंने बताया कि प्रत्येक टीकाकरण सत्र में लॉजिस्टिक, दो वैक्सीन कैरियर (प्रत्येक में चार कंडीशनिंग आइस पैक), लाभार्थियों की संख्या के अनुसार वैक्सीन कैरियर में कोविड वैक्सीन, पर्याप्त संख्या में एडी शिरीज, हब कटर, वैक्सीन वायल ओपनर, हैंड सैनिटाइजर एवं मास्क पार्टीशन स्क्रीन एनाफाईलैक्सिस किट, लाल व पीले बैग एवं कचरे के लिए थैला ब्लू पंचर प्रूफ कंटेनर वस्तुओं की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी।

बैठक में टीकाकरण स्थल एवं सत्र आयोजन, प्रशिक्षण, कोविन पोर्टल पर सूचनाएं, ड्यू लिस्ट, डीटीएफ, टीटीएफ, बीटीएफ शहरी टास्क फोर्स, अवशिष्ट निस्तारण, एईएफआई किट, अनुश्रवण एवं पर्यवेक्षण, चिन्हित कोल्ड चैन पॉइंट्स की सुरक्षा हेतु सीसीटीवी एवं वीडियो रिकॉर्डिंग सहित कोल्ड चैन पॉइंट्स पर सुरक्षाकर्मियों की 24 घंटे तैनाती सहित अन्य बिंदुओं पर विस्तृत चर्चा के साथ रणनीति बनाई गई।बैठक में सभी विभागों के दायित्व बताये गये। 

बैठक में एसीएमओ डॉ आरपी दीक्षित, डॉ अश्विनी, डॉक्टर बी सी पंत, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ आर सी अग्रवाल डॉ नसरीन सहित अन्य चिकित्सा अधिकारी ,ज़िला आयुर्वेद अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी,आइ एम ए सदस्य एवं यूनिसेफ के लोग मौजूद रहे।