Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

विपक्ष के भ्रमजाल में न आएं किसान, बिना भेदभाव 2020 तक किसानों की आय दोगुनी करने पर काम कर रही सरकार:सीएम योगी

 


विपक्ष के भ्रमजाल में न आएं किसान-सीएम योगी

-बिना भेदभाव 2020 तक किसानों की आय दोगुनी करने पर काम कर रही सरकार

-किसान मेला व कृषि प्रदर्शनी के उद्घाटन के साथ किया

95 करोड़ की 39 परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास

अयोध्या। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि

जिन दलों को प्रदेश और देश की जनता ने नकार दिया। वह आज कृषि संशोधन बिल को लेकर किसानों को भ्रमित करने में लगे हैं। मुख्यमंत्री ने किसानों को आगाह किया कि वह इन दालों के भ्रम जाल में न आएं। भाजपा की केंद्र और प्रदेश सरकार ने वर्ष 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का वादा किया है।बिना भेदभाव के सरकार इसी योजना पर आगे बढ़ रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने साफ कर दिया है कि न्यूनतम समर्थन मूल्य में एमएसपी को खत्म नहीं किया गया है और सरकार किसानों से इसी एमएसपी पर फसलों के ऊपर की खरीद कर रही है।

रविवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जनपद स्थित

आचार्य नरेंद्र देव कृषि एवं प्रौद्योगिक विश्वविद्यालय के दौरे पर थे। उन्होंने कृषि विश्वविद्यालय की ओर से आयोजित तीन दिवसीय किसान मेला एवं कृषि प्रदर्शनी का उद्घाटन किया तथा 95 करोड़ की 37 परियोजनाओं का लोकार्पण और शिलान्यास किया। अयोध्या मंडल के भाजपा पदाधिकारियों और जनप्रतिनिधियों से संवाद किया तथा किसान सम्मेलन के बहाने किसानों से मुखातिब हुए। अपने संबोधन में मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि 'मैं किसानों से यह वादा करता हूं कि न तो एमएसपी खत्म होगी और न ही मंडी समितियां'। किसानों को यदि मंडी से भी ज्यादा मूल्य कहीं मिलता है तो भी किसान अपनी उपज बेंचने को स्वतंत्र होगा। उस पर कोई टैक्स नहीं लगेगा। कांटेक्ट आपसी सहमति से होता है। कांटेक्ट खेती को पूरी तरह से संरक्षित करने का काम सरकार कर रही है। विपक्ष केवल गुमराह कर रहा है। उन्होंने कहा कि कृषि विश्वविद्यालयों के साथ कृषि विज्ञान केंद्रों की श्रृंखला खड़ी करके किसानों को तकनीक से जोड़ने का काम किया जा रहा है। वर्षों से लंबित पड़ी स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक न्यूनतम समर्थन मूल्य देने की एमएसपी की गारंटी किसान बिल लागू करके कर दिया गया है। 2019 में किसानों के लिए किसान सम्मान निधि 2 करोड़ 30 लाख किसानों को प्राप्त हुआ है। आगामी 25 तारीख को फिर देश के प्रधानमंत्री एक लाख अट्ठारह करोड रुपए किसान सम्मान निधि के रूप में किसानों के खाते में भेजने का काम करने जा रहे हैं।

उन्होंने कृषि वैज्ञानिकों का आह्वान किया कि वह नवीन से नवीन तकनीकी किसानों तक पहुंचाएं।जिससे किसान लाभान्वित होकर आगे बढ़े। कहा कि देश के प्रधानमंत्री का एक ही सपना है कि 2022 तक किसानों की आय दोगुनी हो जाए और किसानों के चेहरे पर खुशहाली एवं समृद्धि आवे। मुख्यमंत्री ने किसानों का आह्वान किया कि वे परंपरागत खेती के साथ-साथ बागवानी सहित अन्य उद्यम अवश्य करें। मुख्यमंत्री ने प्रगतिशील किसानों का अभिनंदन करते हुए कहां की धन्य है ऐसे हमारे किसान भाई जिन्होंने अलग खोज करके अपनी अलग पहचान बनाई है। मुख्यमंत्री ने विभिन्न योजनाओं के कृषि यंत्र की चाबी सौंपी और लाभार्थियों को योजना का चेक प्रदान किया।कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने प्रदेश में भाजपा की सरकार बनते ही किसानों की ऋण माफी की बात कही। मुख्यमंत्री को हल और स्मृति चिन्ह देखकर स्वागत किया गया।