Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

टुकड़ियों में पहुंचे कांग्रेसियों ने पुलिस को छकाया,लेकिन नहीं कर पाए सांसद आवास का घेराव और प्रदर्शन



टुकड़ियों में पहुंचे कांग्रेसियों ने पुलिस को छकाया,लेकिन नहीं कर पाए सांसद आवास का घेराव और प्रदर्शन

-पूर्व पीएम चौधरी चरण सिंह की जयंती पर कृषि संशोधन बिल के खिलाफ आयोजित था कार्यक्रम,ज्यादातर नेता हुए नजरबंद

अयोध्या। कृषि संशोधन बिल के खिलाफ किसान नेता एवं पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय चौधरी चरण सिंह जी की जयंती पर बुधवार को कांग्रेस का पूरे प्रदेश में सांसद आवास का घेराव और ताली थाली बजा कर प्रदर्शन करने का कार्यक्रम था। इसको लेकर पुलिस प्रशासन ने एहतियाती इंतजाम कर रखे थे। पार्टी के ज्यादातर नेताओं को नजर बंद कर दिया और सांसद आवास को छावनी में तब्दील कर दिया लेकिन गुरिल्ला रणनीति अपनाते हुए टुकड़ियों में कांग्रेस कार्यकर्ता पहुंचे और पुलिस को जमकर छकाया। हालांकि पहले से मुस्तैद पुलिस बल ने जिलाध्यक्ष समेत सभी को हिरासत में ले लिया और सांसद आवास का घेराव और प्रदर्शन नहीं करने दिया।

बुधवार को कांग्रेस नेतृत्व में कृषि संशोधन बिल के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों की मांग को न सुनने का आरोप लगाते हुए प्रदेश भर में सांसदों के आवास का घेराव और प्रदर्शन का निर्देश दिया था। प्रांतीय नेतृत्व के निर्देश पर पार्टी कार्यकर्ताओं को केंद्र सरकार की ओर से पारित 3 किसान विरोधी बिल के विरोध व कुम्भकर्णी नींद सो रही सरकार को जगाने के लिए तथा आंदोलित किसानों के समर्थन में भाजपा सांसद लल्लू सिंह के आवास का घेराव कर प्रदर्शन करना था। हालांकि घेराव और प्रदर्शन को विफल करने के लिए पुलिस प्रशासन ने कांग्रेस के पीसीसी सदस्य राजेंद्र प्रताप सिंह,यूथ कांग्रेस के प्रदेश महासचिव शरद शुक्ला,महानगर अध्यक्ष मेजर अकबर अली,प्रवक्ता मोहम्मद शरीफ,पूर्व जिला अध्यक्ष रामदास वर्मा समेत कई को उनके ही घर में नजरबंद कर दिया लेकिन कांग्रेस जिला अध्यक्ष अखिलेश यादव पुलिस को चकमा देकर गायब हो गए। कार्यकर्ताओं को खबर मिली कि सांसद आवास को छावनी में तब्दील कर दिया गया है और आवास आने वाले सभी मार्गों पर पुलिस का पहरा है तो गुरिल्ला शैली अपनाते हुए कार्यकर्ता टुकड़ियों में रवाना हुए। जिला अध्यक्ष के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं की एक टोली सांसद आवास के निकट तक पहुंच गई लेकिन घेराबंदी कर खड़ी पुलिस ने सभी को हिरासत में ले लिया लिया। इसके बाद सभी को पुलिस लाइन भेज दिया गया।

मीडिया को जारी बयान में कांग्रेस जिला अध्यक्ष अखिलेश यादव ने बताया कि भाजपा सरकार सत्ता मद में चूर होकर पूंजीपतियों के दबाव में किसानों के साथ अत्याचार पर उतारू है। किसानों के समर्थन में शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे कार्यकर्ताओं गिरफ्तारी कर लोकतंत्र का गला घोंटा गया।सरकार को किसान हित में अपने अहंकार व हठधर्मिता को छोड़ इस काले कानून को वापस लेना ही होगा। पार्टी कार्यकर्ता किसानों के हक में संघर्ष करते रहेंगे और आवाज बुलंद करते रहेंगे। उन्होंने बताया कि पार्टी कार्यकर्ताओं को सत्ता के दमन और जेल भेज कर रोका नहीं जा सकता। सरकार को लोगों की आवाज दबाने के बजाय उनके कल्याण के लिए कदम उठाना चाहिए।