Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

सपा कार्यकर्ताओं ने थाने के सामने लगी बैरिकेडिंग को हटाकर नारेबाजी करते हुए किसान आंदोलन का किया आगाज


मितौली कस्बे में किसान आंदोलन के समर्थन में समाजवादी पार्टी कस्ता विधानसभा के पूर्व विधायक सुनील कुमार लाला के नेतृत्व में सैकड़ों ट्रैक्टर ट्राली पर सवार सपा कार्यकर्ताओं ने मितौली थाने के सामने लगी बैरिकेडिंग को हटाकर नारेबाजी करते हुए किसान आंदोलन का आगाज किया मितौली थाना मुख्यालय पर सुबह से ही पुलिस द्वारा मुस्तैदी के साथ लखीमपुर मैगलगंज पर आने जाने वाले वाहनों को चेक किया जा रहा था इसी बीच पुलिस को चकमा देकर कस्ता विधानसभा के पूर्व विधायक सुनील कुमार लाला के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने दर्जनो ट्रैक्टरों पर सवार किसानों द्वारा समाजवादी पार्टी जिंदाबाद, मुलायम सिंह यादव जिंदाबाद, अखिलेश यादव जिंदाबाद, किसान विरोधी बिल वापस लो के नारे लगाते हुए निकलने का प्रयास कर रहे थे किंतु पुलिस ने हल्का बल प्रयोग करते हुए सपा कार्यकर्ताओं को पूर्व विधायक सुनील कुमार लाला व मौलाना रहमत अली , नरेश पाल, दयाराम यादव, बहादुर सिंह, सलीम गाजी, सुचेंद्र यादव, गुरुदर्शन सिंह सहित 38 लोगो को गिरफ्तार कर लिया गया गिरफ्तारी के दौरान समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने थाने के अंदर भी खूब नारेबाजी की फिलहाल पुलिस की चाक चौबंद व्यवस्था के चलते कोई भी अप्रिय घटना नहीं हो पाई। वही मैगलगंज में भी किसानों के चल रहे आंदोलन के क्रम सोमवार को पूरे देश मे हर जिला मुख्यालय पर किसानों का प्रदर्शन होना था जिसको देखते हुए प्रसासन ने एक दिन पहले से ही किसान नेताओं की गिरफ्तारी शुरू कर दी थी इसी क्रम आज मैगलगंज पुलिस ने भाकियू अवध राजू गुट के कार्यवाहक प्रदेस अध्यक्ष श्यामू शुक्ला को उनके आवास से ही बीती शाम को गिरफ्तार कर लिया था जिसकी खबर प्रदेश नेतृत्व व जब क्षेत्र के किसानों में फैली तो सैकड़ों की तादात में किसान व प्रदेश महामंत्री मयंक सिंह चौहान कोतवाली पहुंचे किसानों के साथ महिलाएं व बच्चे भी पहुंचे और अपने नेता के समर्थन में रिहाई होने तक वहीं बैठ गए और प्रभारी निरीक्षक से यह सवाल भी किया कि जब हमारे संगठन के द्वारा जनपद में कोई कार्यक्रम प्रस्तावित नही तो फिर उनको क्यों गिरफ्तार किया गया। 

पुलिस ने किया किसानों के साथ अमानवीय व्यवहार

सुबह से ही किसान नेता श्यामू के समर्थन में बैठी महिलाएं बच्चे व किसान जब भूंख से परेशान दिखे तो संगठन के द्वारा वहीं पर तहरी बनाने की तैयारी की गई पर प्रभारी निरीक्षक व अपराध निरीक्षक के द्वारा किसानों को खाना बनाने से मना कर दिया गया बच्चे भूंख से तिलमिलाते रहे पर मैगलगंज की मित्र पुलिस ने एक न सुनी जिससे नाराज किसानों ने थाने में ही भूख हड़ताल शुरू कर दी