Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

आरोपित को छोड़े जाने से कारोबारी के परिजनों में आक्रोश, किराना कारोबारी को गोली मारने का मामला



ब्यूरो कार्यालय (कानपुर):बीती 11 दिसम्बर की देर रात को बाइक सवार तीन बदमाशों ने नकदी से भरा बैग लूटने के प्रयास में किराना कारोबारी को गाली मारकर घायल कर दिया था। जिसमें पुलिस ने किराना करोबारी की तहरीर पर नितीश कनौजिया व अंकित समेत तीन अज्ञात साथियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। पुलिस ने नितीश को हिरासत में लेकर पूछताछ की लेकिन बीते रविवार को उसे छोड़ दिया। जिससे परिजनों में पुलिस की कार्यशैली पर आक्रोश व्याप्त है।

महाराजपुर निवासी किराना कारोबारी विष्णु गुप्ता 11 दिसम्बर की देर रात अपनी दुकान के कर्मचारी शैलेन्द्र के साथ घर जाने के लिए बाइक से निकले थे। विष्णु हाथ में करीब एक लाख रुपये की नकदी से भरा भी लिये थे। लाल बंगला कॉलोनी के पास पहुंचने पर बाइक सवार तीन बदमाशों ने विष्णु को रोक लिया था और बाइक चला रहे कर्मचारी शैलेन्द्र की आंख में मिर्च पाउडर डाल दिया था। फिर आरोपितों ने विष्णु से नकदी से भरा बैग छीनन का प्रयास किया था। विष्णु के विरोध करने पर आरोपित उसे गोली मारकर भाग निकले थे। मौके पर पहुंची पुलिस ने विष्णु को निजी अस्प्ताल में भर्ती कराया था। साथ ही घायल कर्मचारी शैलेन्द्र से पूछताछ कर लुटेरों की तलाश शुरू कर दी थी। पुलिस ने विष्णु के भाई के आनन्द गुप्ता की तहरीर पर काजीखेड़ा निवासी नितीश कनौजिया, अंकित समेत उसके अज्ञात साथियों पर मामला दर्ज कराया था। 

पुलिस ने आरोपित नितीश को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था। लेकिन बीते रविवार को साक्ष्य और उसकी लोकेशन घटनास्थल पर न मिलने समेत नितीश की तबियत खराब हो जाने के चलते पुलिस ने उसे छोड़ दिया था। वहीं विष्णु के भाई आनंद ने बताया कि घटना से कुछ दिनों पहले नितीश और अंकित ने ही 25 लाख रुपये के लेनदेन के विवाद में भाई को धमकी दी थी। 

इसके बाद भी पुलिस आरोपितों को गिरफ्तार नहीं कर रही है। आनन्द का आरोप है कि आरोपितों ने लूट के इरादे से नहीं बल्कि विष्णु को जान से मारने के इरादे से हमला किया।

चकेरी इंस्पेक्टर रवि श्रीवास्तव ने बताया कि नितीश से पूछताछ के बाद उसे छोड़ा गया है। साथ ही आगे भी पूछताछ के लिए उसे वापस हिरासत में लिया जायेगा। आरोपितों की तलाश की जा रही है।


अस्पताल से डिस्चार्ज हुए विष्णु गुप्ता


कानपुर। घटना में घायल होने के बाद किराना कारोबारी विष्णु गुप्ता को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सोमवार को विष्णु के स्वास्थ्य में सुधार होने के बाद उन्हें डिस्चार्ज किया गया।