Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

किसान आंदोलन-सासंद के घेराव से पहले ही नेताओं को किया गया नजरबंद व गिरफ्तार



रामसनेहीघाट,बाराबंकी।पूर्व घोषित कार्यक्रम के अनुसार भाजपा सासंद के घेराव को देखते हुए विभिन्न किसान संगठनों से जुड़े नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को एक बार फिर से उनके घरों से ही नजरबंद कर दिया गया और जो लोग पुलिस को झांसा देकर घर से निकलने में कामियाब हो गए उन्हें रास्ते में गिरफ्तार कर कोतवाली में बिठा दिया गया।

     जानकारी के मुताबिक भारतीय किसान संगठन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चौधरी ज्वाला सिंह व जिला अध्यक्ष संतोष तिवारी सहित सैकड़ों किसान को दुल्हदेपुर में श्री सिंह के आवास पर थाना टिकैतनगर की पुलिस ने नजरबंद कर पुलिस का पहरा बिठा दिया गया।इसी तरह भारतीय किसान यूनियन धर्मेंद्र गुट के राष्ट्रीय महासचिव रामसुरेश तिवारी को भी उनके घर ग्राम नरायनपुर बड़ेला में ही नजरबंद कर दिया गया और शाम तक अकेले लघु शंका तक करने नहीं जाने दिया गया।इसी प्रकार जिलाध्यक्ष मायाराम यादव एवं पदाधिकारियों कार्यकर्ताओं को सांसद बाराबंकी उपेंद्र रावत के आवास पर घेराव व धरना देने के लिये बाराबंकी जाते समय दिलोना बाईपास पर पुलिस ने आकर हिरासत में लेकर कोतवाली रामसनेहीघाट में बिठा दिया गया। जिलाध्यक्ष मायाराम यादव ने कहा सरकार की मंशा के अनुरूप सरकार के दबाव में पुलिस किसानों पर अनायास दबाव बनाकर नजर बंद कर गिरफ्तारी कर रही है जिससे साफ स्पष्ट होता है की बीजेपी सरकार द्वारा किसानों को आतंकवादी घोषित करने की सुनियोजित चाल है। हम प्रशासन व सरकार से आग्रह किया कि वह किसान विरोधी बिल हैं उसे हटाकर किसान हितैषी नया बिल बनाये। किसानों की उपज का एमएसपी से कम खरीद करने वाले बिचौलियों और आढातियो पर सख्त से सख्त कार्यवाही हो। गिरफ्तारी के समय मंडल अध्यक्ष अयोध्या उदय नारायण पाठक जिला अध्यक्ष माया राम यादव मंसाराम यादव जिला सचिव मोहम्मद जुबेर ज्ञान चंद गुप्ता महिला जिला अध्यक्ष नीलम सिंह राजीव कुमार रामू ललित निर्मल शुक्ला आदि काफी संख्या में लोग उपस्थित रहे।