Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

श्रीमद् भागवत कथा के पांचवे दिन श्री कृष्ण जन्म लीलाओं का हुआ वर्णन



जरवल(बहराइच)। जरवल रोड थाना क्षेत्र के ग्राम सभा रिठौरा के डिहवा में चल रही श्रीमद् भागवत कथा के पांचवे दिन कथा में कथाव्यास पंडित देवी प्रसाद शास्त्री ने श्री कृष्ण जन्म लीला का बखान किया। भगवान की बाल लीलाओं का वर्णन करते हुए कथाव्यास ने कहा कि भगवान श्री कृष्ण का जन्म बंदीगृह में हुआ। 

प्रसंग को आगे बढ़ाते हुए कथाव्यास ने कहा कि भगवान श्री कृष्ण ने जेल में वासुदेव के यहां अवतार लेकर संतों व भक्तों का सम्मान बढ़ाया। उन्होंने अपने अंदर बुराई विद्यमान न रहे इसके लिए संतों का सत्संग का मार्ग बताया। उन्होंने बताया कि भगवान श्री राम की मर्यादा और श्रीकृष्ण को तब समझोगे जब राम मय बनो। जब भक्ति मार्ग में भक्त लीन रहता है तब प्रभु दर्शन होते है। बिना भाव के भगवान कीमती चीजों को भी ग्रहण नहीं करते यदि भाव से एक फूल ही चढ़ा दें तो प्रभु प्रसन्न हो जाते हैं। जिस व्यक्ति में ईश्वर प्रेम का भाव पैदा हो जाए तो उसे ईश्वर की लगन लगी रहती है। इस प्रकार से भगवान श्री कृष्ण के जन्मोत्सव के तमाम मार्मिक प्रसंग सुनाए जिसे श्रोता सुनकर भाव विभोर हो गए। इस मौके पर यजमान के रूप में माधुरी देवी पत्नी स्वर्गीय अमरीश कुमार वर्मा, हृदय राम वर्मा चंद्र प्रकाश वर्मा अविनाश चंद्र वर्मा जगन्नाथ वर्मा राजेश कुमार धनगर बृजमोहन पाल शंभू नेता सत्य प्रकाश गुप्ता रमेश पाल ललित राम चौधरी उमेश वर्मा प्रमोद वर्मा अर्जुन वर्मा समाजवादी पार्टी के जिला सचिव सोनू चौधरी सहित काफी संख्या में श्रद्धालु गण मौजूद रहे।