Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

ग्राम पंचायत में ग्राम प्रधान ने अपनी ग्राम पंचायत को छोड़कर दूसरी ग्राम पंचायत में मनरेगा द्वारा तालाब खुदवाकर सरकारी धन का किया दुरूपयोग

 


मलिहाबाद लखनऊ। विकास खण्ड मलिहाबाद की एक ग्राम पंचायत में एक ऐसा मामला सामने आया जहां ग्राम प्रधान ने अपनी ग्राम पंचायत को छोड़कर दूसरी ग्राम पंचायत में मनरेगा द्वारा तालाब खुदवाकर सरकारी धन का दुरूपयोग किया। साथ ही साथ अपनी दबंगई के बल पर उसी तालाब में खुद ही मछली पालने का कारोबार शुरु कर दिया। जिसकी शिकायत एक ग्रामीण ने मंगलवार को आयोजित सम्पूर्ण समाधान दिवस में उपजिलाधिकारी से की है। शिकायतकर्ता सियाराम पुत्र घसीटे निवासी नेजाभारी महमूदनगर ने आरोप लगाते हुए बताया कि मलिहाबाद विकासखंड की ग्राम पंचायत फिरोजपुर के ग्राम प्रधान आजाद ने अपनी ग्राम पंचायत को छोड़कर दूसरी ग्राम पंचायत महमूद नगर में गाटा संख्या 10/1 रकबा 0.1010 जो महमूद नगर के मजरे नेजाभारी में दर्ज है जिस पर फिरोजपुर ग्राम प्रधान आजाद ने बीते जून माह में तालाब को मनरेगा द्वारा खुदवाया था जिसमें डेढ़ लाख से अधिक रुपए निकाले गए हैं जो सरकारी अभिलेखों में पूरब तालाब की खुदाई के नाम से दिखाया गया है। जिस तालाब की खुदाई हुई है उसकी वर्क आईडी (3132001064/WH/958486255823013917) है ग्राम प्रधान द्वारा इसी आईडी पर कार्य किया गया है। यही नही प्रधान ने अपनी दबंगई के बल पर उसी तालाब में मछली पालन का कार्य भी कर रहा है लेकिन महमूदनगर के ग्राम प्रधान को इसकी भनक तक नही है। सियाराम ने यह भी कहा कि महमूदनगर की ग्राम प्रधान व लेखपाल की मिलीभगत के चलते तालाब की खुदाई कराकर उसमे मछली पाली जा रही है। इस सम्बंध में उपजिलाधिकारी अजय कुमार राय ने प्रकरण की जांच के लिये एडीओ पंचायत को निर्देशित किया।