Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

दुधवा को पर्यटन की दृष्टि से विकसित किए जाने पर कबीना मंत्री की अध्यक्षता में हुई हाईप्रोफाइल बैठक



लखीमपुर खीरी:बुधवार की देर शाम प्रदेश के कबीना मंत्री सूक्ष्म लघु एवं मध्यम उद्यम निवेश व निर्यात खादी एवं ग्रामोद्योग, रेशम, हथकरघा वस्त्र उद्योग तथा एन आर आई विभाग सिद्धार्थ नाथ सिंह अपने निर्धारित भ्रमण कार्यक्रम के अनुसार पलिया पहुंचे। जहां डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने उनके जनपद आगमन पर उनका स्वागत किया।

कबीना मंत्री ने डीएम समेत वन व पर्यटन विभाग के आला अधिकारियों के साथ दुधवा राष्ट्रीय उद्यान को पर्यटन की दृष्टि से विकसित किए जाने के संबंध में रणनीति पर विस्तृत रूपरेखा तय की गई।

कबीना मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने बैठक की अध्यक्षता करते हुए कहा कि दुधवा राष्ट्रीय उद्यान प्रदेश का इकलौता राष्ट्रीय उद्यान है। यहां पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। दुधवा एवं इसके आसपास के क्षेत्रों में नए स्पॉट विकसित करने के साथ ही पर्यटकों की सुविधा के दृष्टिगत बेहतर व्यवस्थाएं किए जाने की महती आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि दुधवा टाइगर रिजर्व को ऐसी व्यवस्थाओ से लैस किया जाए कि यह पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र बन जाए।

डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह ने दुधवा राष्ट्रीय उद्यान में उपलब्ध स्पॉट्स एवं संसाधनों के संबंध में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि वर्तमान में दुधवा राष्ट्रीय उद्यान को पर्यटन के लिहाज से विकसित किए जाने की महती आवश्यकता है। दुधवा को पर्यटन की दृष्टि से विकसित किए जाने पर ना केवल दुधवा का विकास होगा बल्कि थारू समुदाय की आजीविका को भी पंख लगेंगे।

बैठक में उपनिदेशक बफर जोन डॉ. अनिल पटेल ने बफर जोन को भी पर्यटन की दृष्टि से विकसित किए जाने की आवश्यकता पर जोर दिया। बैठक में दुधवा की ब्रांडिंग एवं पर्यटन के लिहाज से उसे विकसित किए जाने पर चर्चा हुई।

बैठक में डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह, उपनिदेशक बफर जोन व प्रभारी डीडी दुधवा डॉ अनिल पटेल, एसडीएम पलिया डॉ. अमरेश कुमार सिंह, सहायक निदेशक सूचना रत्नेश चंद्र, क्षेत्रीय पर्यटन अधिकारी मौजूद रहे।