Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

श्रमिकों हेतु विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन सम्पन्न



एटा- राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के दिशा-निर्देश तथा माननीय अध्यक्ष, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण/जनपद न्यायाधीश एटा के निर्देशानुसार 23 दिसम्बर को जिला विधिक सेवा प्राधिकरण, एटा के तत्वाधान में श्रम प्रर्वतन अधिकारी एटा के सहयोग से Rehsbilitation Schemes For migrant workers विषय पर विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया।सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा श्रमिकों को उनके विधिक अधिकारों तथा विभिन्न प्रकार के कानूनों की जानकारी दी, उपस्थित सभी श्रमिकों के द्वारा अपनी यह समस्या बतायी गयी कि नियम समय के अनुसार कार्य नही कराया जा रहा है, और ना ही नियम पारिश्रमिक दिया जा रहा है। सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा वहाॅ उपस्थित सभी श्रमिकों को उनके रजिस्ट्रेशन के बारे पूछा गया कि सभी श्रमिकों का रजिस्ट्रेशन हुआ है कि नही श्रमिकों द्वारा यह बताया गया कि कुछ श्रमिकों का रजिस्ट्रेशन हो गया किन्तु उन्हे अभी तक उनका रजिस्ट्रेशन कार्ड प्राप्त नही हो सका। सचिव द्वारा उपस्थित श्रमिक अधिकारी, ठेकेदार, प्रोजेक्ट मैनेजर से यह आपत्ति जताई गयी कि उनके रजिस्ट्रेशन कार्डो को अभी तक क्यों वितरित नहीं कियागया एवं शेष श्रमिकों का रजिस्ट्रेशन अभी तक क्यों नही हो सका तथा उनके द्वारा सभी राजिस्टरों का अवलोकन किया गया जिसमें किसी भी रजिस्टर में निर्धारित प्रोफार्मा में नहीं था।सचिव द्वारा उपस्थित ठेकेदारों, प्रोजेक्ट मैनेजर, श्रम अधिकारी को निर्देशित किया कि जिन लोगों का रजिस्टेªशन हो गया है। उनका वितरण कराये और जिनका अभी तक रजिस्ट्रेशन नही हो सका है उन्हें यथा शीघ्र करवायें श्रमिक हमारे अच्छे जीवन जीने के निर्माण में मूल्यवान आधार है, उनसे जानवरों की तरह काम न ले बल्कि मानव की तरह कार्य करवाये, जिससे हमारे समाज में एक शुभ संदेश जायेगा, सचिव द्वारा उपस्थित सभी श्रमिकों को यह आश्वाशन दिया गया कि उनकी समस्याओं को यथा शीघ्र हल किया जायेगा।

             सचिव द्वारा सभी से अपील की गयी कि कोविड-19 के संक्रमण से बचाव हेतु वे हर पल अपने चेहरे पर मास्क अथवा गमछा आदि लगायें रखें तथा अपने हाथों को किसी भी साबुन से प्रत्येक 20 मिनट बाद धोते रहे अथवा सैनीटाइजर का प्रयोग करें तथा स्वंय को अस्वस्थ महसूस होने पर चिकित्सक से सम्पर्क करें।