Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

दो दिवसीय दौरे पर आ रहे निर्माण समिति चेयर, मैनराम मंदिर निर्माण में तेजी लाने के लिए आर्किटेक्ट के साथ विशेषज्ञों से करेंगे मन्त्रणा


अयोध्या। चातुर्मास तथा तकनीकी कारणों से क शब्द से चल रहे राम मंदिर में मार के कार्य को तेज करने के लिए श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट और राम मंदिर निर्माण समिति ने कवायद तेज कर दी है। इसी को लेकर राम जन्म भूमि मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन दो दिवसीय अयोध्या दौरे पर आ रहे हैं। दौरे के दौरान वह राम जन्मभूमि परिसर मैं कार्यों के प्रगट का स्थलीय निरीक्षण करेंगे और कार्यदाई संस्था समेत विभिन्न विशेषज्ञों के साथ आगे की रणनीति पर विचार मंथन करेंगे। इस दौरान श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र स्ट के पदाधिकारी भी मौजूद रहेंगे। निर्माण समिति चेयरमैन की रविवार शाम जनपद पहुंचने की उम्मीद है।


वैश्विक महामारी का रूप धारण कर चुके नोबेल कोरोनावायरस के संक्रमण का प्रसार कम होने को लेकर श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्र्स्ट और सहयोगी संस्थाओं ने अपनी गतिविधियों को तेज करने की कवायद शुरू कर दी है। देश की जानी-मानी संस्था टाटा कंसल्टेंसी को आधिकारिक रूप से राम मंदिर निर्माण के लिए परामर्श दात्री संस्था नामित किया गया है। राम मंदिर निर्माण को लेकर पाइलिंग और फाउंडेशन समेत पूरे परिसर के विकास का जिम्मा देश की जानी-मानी कंस्ट्रक्शन कंपनी लार्सन एंड टूब्रो के हवाले किया गया है जबकि नागर शैली में बनने वाले राम मंदिर के पत्थर संबंधी सभी तारीख जाने-माने वास्तुकार और शिल्पी सोमपुरा देख रहे हैं। जन आस्था और आकांक्षा से जुड़े राम मंदिर के निर्माण को लेकर कोई चूक ना रह जाए इसको लेकर श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से केंद्रीय भवन निर्माण एवं शोध संस्थान रुड़की, आईआईटी चेन्नई, आईआईटी दिल्ली और अन्य तमाम विशेषज्ञों से परामर्श लिया जा रहा है। मंदिर निर्माण की औपचारिक शुरुआत करने के लिए पायल टेस्टिंग की रिपोर्ट विशेषज्ञों के हवाले हैं और इस पर अपना सुझाव और संशोधन विशेषज्ञों को देना है। माना जा रहा है कि श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से मकर संक्रांत के अवसर पर राम मंदिर निर्माण का कार्य शुरू कराया जाएगा इसी दिन से विश्व हिंदू परिषद की ओर से राम मंदिर निर्माण के लिए धन संग्रह को लेकर 5 लाख गांव में धार्मिक अनुष्ठान के साथ 11 करोड़ लोगों से सहयोग हासिल करने के लिए 90 दिन का अभियान शुरू किया जाना है। शुक्रवार को श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव व स्थानीय पदाधिकारियों ने विहिप मुख्यालय कारसेवक पुरम में विशेषज्ञ के साथ आगामी कार्य योजना को लेकर मंत्रणा की है। आगामी कार्य योजना पर निर्णय के लिए फिर से राम मंदिर के निर्माण समिति चेयरमैन नृपेंद्र मिश्र के साथ विशेषज्ञ और ट्रस्ट के पदाधिकारियों की मंत्रणा होगी। दो दिवसीय दौरे में निर्माण समिति चेयरमैन और ट्रस्ट के पदाधिकारी पाइलिंग परीक्षण रिपोर्ट पर विशेषज्ञों के सुझाव से रूबरू होंगे और विभिन्न पहलुओं पर चर्चा के बाद फाइनल ड्राफ्ट तैयार किया जाएगा। इसको लेकर वास्तुकार आशीष सोमपुरा कार्यदाई संस्था लार्सन एंड टूब्रो और परामर्श दात्री संस्था टाटा कंसल्टेंसी के विशेषज्ञों समेत अन्य विशेषज्ञ अयोध्या पहुंच रहे हैं।