Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

गंगा वन और भागीरथी वन के बीच में बनाया जायेगा ग्रीन कोरीडोर- जिलाधिकारी

गंगा वन और भागीरथी वन के बीच में बनाया जायेगा ग्रीन कोरीडोर- जिलाधिकारी


बोले अधिक से अधिक वृक्षारोपण कराने के लिये व्यवहारिक कार्ययोजना करें तैयार


हजारा नहर डक्ट पर कराया जायेगा सौंदर्यकरण, दरियावगंज झील के किनारे वेटलैण्ड डे पर होंगे कार्यक्रम


कासगज।जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाश सिंह ने कलेक्ट्रेट सभागार में वन विभाग द्वारा आयोजित पौधारोपण, जिला गंगा समिति व जिला पर्यावरण समिति की बैठक की अध्यक्षता करते हुये कहा कि सभी विभागों को पौधारोपण, के लक्ष्य आवंटित कर दिये गये हैं। इस बार पहले से और भी अधिक पौधे लगाने के लिये व्यवहारिक कार्ययोजना बनाकर उपलब्ध करायें तथा लक्ष्य से अधिक पौधारोपण, के लिये गंभीरता से तैयारी करें। जनसामान्य के साथ ही किसान सम्मान निधि के लाभार्थियों को वृक्षारोपण के लिये प्रेरित करें। लगाये गये पौधों का संरक्षण भी अवश्य किया जाये। पहले से बेहतर कार्य करें। गंगा वन और भागीरथी वन में लगे पौधों का भलीभांति संरक्षण किया जाये।

         जिलाधिकारी ने कहा कि इस बार सोरों में गंगा वन और भागीरथी वन को जोड़ने के लिये बीच में ग्रीन कोरीडोर बनाने का प्रोजेक्ट बनाया जाये। नदरई में हजारा नहर डक्ट पर सौंदर्यकरण कराते हुये साफ सफाई रखी जाये। 02 फरवरी को वेटलैण्ड डे पर दरियावगंज झील के किनारे कार्यक्रमों का आयोजन कराया जाये।बैठक में बताया गया कि हजारा नहर में ततारपुर के पास डाल्फिन दृटिगोचर होने से अच्छे संकेत मिले हैं। काली नदी में गिरने वाले नालों को पक्का कराकर उसके पानी के ट्रीटमेंट करने की व्यवस्था की जा रही है। जिलाधिकारी ने कहा कि सीवर और सेप्टिक टैंक के अवािष्ट के ट्रीटमेंट की भी व्यवस्था की जाये।बैठक में मुख्य विकास अधिकारी तेज प्रताप मिश्र, सीएमओ डाॅ. अनिल कुमार डीएफओ प्रभाकर वािष्ठ, पीडी डीआरडीए, जिला विकास अधिकारी, डीपीआरओ, जिला कृाि अधिकारी सहित सभी सम्बन्धित अधिकारी व ईओ तथा जिला गंगा समिति के सदस्य नवल किाोर कुलश्रेष्ठ, डाॅ.सोमवती शर्मा, गौरी शंकर शर्मा आदि उपस्थित रहे।