Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

डीएम-एसपी समेत अधिकारी-कर्मचारियों ने लगवाया टीका, डीएम ने स्टाफ संग लगवाई कोविड वैक्सीन


डीएम-एसपी समेत अधिकारी-कर्मचारियों ने लगवाया टीका

डीएम ने स्टाफ संग लगवाई कोविड वैक्सीन

कामकाज पर नहीं दिखा वैक्सीन का असर, दिन भर के कामकाज के बाद देर शाम तक बैठकों का दौर रहा जारी

लखीमपुर खीरी।शुक्रवार को जिला चिकित्सालय में डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह, एसपी विजय दुल, एडीएम अरुण कुमार सिंह, एएसपी अरुण कुमार सिंह, एसडीएम सदर अरुण कुमार सिंह, एसडीएम पूजा यादव व रेनू सहित राजस्व-पुलिसकर्मियों ने पूरे प्रोटोकॉल के साथ कोविड निरोधी टीका लगवाया। बताते चलें वैक्सीन का असर अफसरों के कामकाज पर कतई नहीं दिखा। पूर्व की भांति अधिकारी के सरकारी कामकाज के साथ ही बैठकों का दौर भी जारी रहा।

डीएम-एसपी अपने स्टाफ समेत जिला चिकित्सालय पहुंचे। जहां उन्होंने अपनी-अपनी आईडी दिखायी, पंजीकरण कार्ड बनवाया और अपना नंबर आने पर वैक्सीनेशन भी करवाया। इसके बाद वहां ऑब्जरवेशन रूम में करीब आधा घंटे तक बैठे रहे।

उन्होंने बताया कि भारत में बनी वैक्सीन आशा की एक किरण लेकर के आई है। जो पूर्णतया सुरक्षित एवं प्रभावी होने के साथ ही कोविड के विरुद्ध में हमे प्रतिरोधक क्षमता प्रदान करती हैं। भारत में बनी वैक्सीन पर पूरी तरह भरोसा रखें। अपनी बारी आने पर वैक्सीन अवश्य ले। अफवाहों पर कतई ध्यान ना दें। उन्होंने कहा कि भारत के वैज्ञानिकों के शौर्य, पराक्रम का का पूरा विश्व लोहा मान रहा है। देश में वैज्ञानिकों द्वारा सृजित की गई स्वदेशी वैक्सीन लगवाने में सुखद की अनुभूति हो रही है। वैक्सीन लगवाने के बाद उन्हें किसी प्रकार का कोई साइड इफेक्ट नहीं है। आज चलने वाले विभिन्न सेसनों में राजस्व- पुलिस के अधिकारी कर्मचारियों का वैक्सीनेशन किया जा रहा है। इसके उपरांत डीएम एसपी ने पुलिस चिकित्सालय में चल रहे वैक्सीनेशन का भी डीएम एसपी ने जायजा लिया एवं संबंधित को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। 

शुक्रवार को जिले के 07 टीकाकरण केंद्रों पर द्वितीय चरण के फर्स्ट फेज में नियत प्रोटोकॉल पर कोविड-19 वैक्सीनेशन हुआ। जिले भर में समाचार लिखे जाने तक कुल 930 राजस्व पुलिस व स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण हुआ। टीकाकृत किसी भी स्वास्थ्य कर्मियों मे कोई भी प्रतिकूल असर देखने को नही मिला। टीकाकरण केन्द्रो पर मास्क, सेनाटाइजर व दो गज की सामाजिक दूरी का पालन करते हेतु सभी लोगों ने टीके लगवायें। जिले के स्वास्थ्य महकमे के अन्य अधिकारी व जिलाधिकारी द्वारा नामित अधिकारी इस टीकाकरण कार्यक्रम में पूरी तरह अपनी भूमिका निभाते रहे।

सभी 07 केंद्रों पर 12 सत्रों का आयोजन किया गया। इन 12 टीमों में कुल 120 सदस्य, जिनमें 24 वैक्सीनेटर शामिल है। जिले भर में समाचार लिखे जाने तक कुल 930 (492 स्वास्थ्य कर्मियों+438 राजस्व-पुलिस) का टीकाकरण हुआ। जिसमें टीकाकृत किसी भी स्वास्थ्य कर्मियों मे कोई भी प्रतिकूल असर देखने को नहीं मिला।