Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

विभागीय कार्यों तथा लाभार्थियों का स्थलीय सत्यापन अवश्य किया जाये -जिलाधिकारी



कासगंज। जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाश सिंह ने कलेक्ट्रेट सभागार में मत्स्य विभाग द्वारा आयोजित केन्द्र एवं केन्द्र पुरोनिधानित प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना की जिला स्तरीय कमेटी की अध्यक्षता करते हुये कहा कि विभाग द्वारा क्षेत्र में जो भी कार्य कराये जा रहे हैं उनका लाभार्थियों का मौके पर सत्यापन अवश्य किया जाये। र्वा 2021-22 के लिये तालाब निर्माण, निवेश एवं इन्फ्रास्ट्रक्चर के जो प्रस्ताव तैयार किये गये हैं उनका मौके पर सत्यापन कराकर ही प्रस्ताव निदेशालय को भेजा जाये। ताकि कार्य में पारदर्शिता बनी रहे और योजना का लाभ वास्तविक रूप से लाभार्थियों को मिल सके। बैठक में बताया गया कि ब्लू रिवोल्यूशन इन्टीग्रेटेड डेवलपमेंट एण्ड मैनेजमेंट आफ फिशरीज-नीली क्रांति के अंतर्गत बैकलाग की धनराशि से 07 लाभार्थियों को मनरेगा तालाबों में प्रथम र्वाीय निवेश हेतु 3.06 लाख रू0 तथा निजी भूमि पर तालाब निर्माण में 02 लाभार्थियों को 1.44 लाख रू0 अनुदान दिया गया है। इसी योजना में गत र्वा 12 लाभार्थियों को निजी भूमि पर तालाब निर्माण हेतु 3.36 लाख रू0 का अनुदान दिया गया। राट्रीय विकास योजना में 06 लाभार्थियों को 7.34 लाख रू0 का अनुदान निजी भूमि पर तालाब निर्माण के लिये दिया गया है। प्रधानमंत्री मत्स्य सम्पदा योजना के अंतर्गत प्राप्त आॅनलाइन आवेदन पत्रों के आधार पर र्वा 2021-22 के लिये चयनित 66 आवेदकों की सूची का प्रस्ताव मुख्यालय भेजने के लिये तैयार किया गया है। बैठक मुख्य विकास अधिकारी तेज प्रताप मिश्र, मुख्य कार्यकारी अधिकारी मत्स्य गिरीश चन्द्र, अधिशााी अभियंता सिंचाई, डीपीआरओ, एलडीएम सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।