Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

जिले में 31 मार्च तक मनाया जाएगा पोषण पखवाड़ा, होंगी विविध गतिविधियां

 


जिले में 31 मार्च तक मनाया जाएगा पोषण पखवाड़ा, होंगी विविध गतिविधियां

शासन स्तर से सभी जिलाधिकारियों और मुख्य विकास अधिकारियों को भेजा गया है पत्र

पोषण पंचायतों के आयोजनों के साथ-साथ ग्राम स्तर पर होंगे जनजागरूकता के प्रयास

पांच अलग-अलग विभाग होंगे आयोजन के सहभागी, आंकाक्षी जिलों में विोष कार्यक्रम

कासगंज। जनपद में बच्चों में कुपोषण दूर करने के उद्देश्य से मंगलवार से 31 मार्च तक पोषण पखवाड़ा प्रारंभ हो गया है। महिला व बाल विकास मंत्रालय की ओर से शुरु कराए गये इस पखवाड़े में अलग-अलग गतिविधियां होंगी। पखवाड़े के दौरान आंगनवाड़ी केंद्र व गांव में कुपोषण के खात्मे को लेकर जागरुक किया गया, औषधी पौधे भी लगाए गए।

जिला कार्यक्रम अधिकारी रावेन्द्र कुमार ने बताया कि मंगलवार व 17 मार्च को आंगनवाड़ी केंद्रों पर चार औषधीय पौधे लगाए जाएंगे। राष्ट्रीय औषधीय बोर्ड की ओर से कुपोषण से बचाव के लिए जानकारी दी जाएगी। आयुष विभाग औषधीय पौधे वितरित करेगा। 18 व 19 मार्च को पंचायतों के साथ बैठकें होंगी। आंगनवाड़ी केंद्रों पर कुपोषण से बचाव को बच्चों का भार व लंबाई नापी जाएगी। इसी दिन बच्चों में कुपोषण की जांच की जाएगी। 20 व 21 मार्च को योग व आयुर्वेद की जानकारी दी जाएगी। 22 मार्च को पोषण एटलस, पोषण ट्रैकर व मिशन कल्पतरु लांच किया जाएगा। 23 व 24 मार्च को सभी गांवों में योग के प्रति जागरूक किया जाएगा। 25 व 26 मार्च को पोषण वाटिका बनाने के लिए औषधीय व सब्जी के पौधों के बीज आंगनवाड़ी केंद्रों व लोगों को मुहैया कराए जाएंगे। 27 व 28 मार्च को पोषण के 5 सूत्रों के बारे में लोगों को जागरुक किया जाएगा। 29 व 30 मार्च को कम लागत से तैयार होने वाले पौष्टिक भोजन के बारे में बताया जाएगा। स्कूली बच्चों के पोषण से संबंधित ड्राइंग मुकाबले कराए जाएंगे। आंगनवाड़ी वर्करों की ओर से घरों के दौरे, प्रभात फेरी, साइकिल रैली, पोषण वाक, हट्ट बाजार, प्रसिद्ध हस्तियां, यूथ ग्रुपों व सैल्फ हैल्प ग्रुपों के साथ बैठक कर पौष्टिक भोजन की महत्ता से परिचित कराया जाएगा। 31 मार्च को स्थानीय प्रतिनिधियों व यूथ ग्रुपों के सुझाव लेते हुए पोषण अभियान के अंतर्गत आने वाले लक्ष्यों को पूरा करने व प्राप्तियों संबंधी चर्चा की जाएगी।