Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

और जब प्यार में अंधी हुई मां तो बेटी को ही उतारा मौत के घाट, ममता पर भारी पड़ा इश्क मासूम को गंवानी पड़ी जान




डलमऊ। रायबरेली। जग जाहिर है कि मां का दर्जा जगत जननी के रूप में दिया गया है लेकिन अगर वही मां किसी के प्यार में अंधी हो जाए और अपनी ही कलेजे के टुकड़े को मौत के घाट उतार दें तो वाकई रिश्ता कलंकित कहलायेगा एक ऐसा ही मामला डलमऊ थाना क्षेत्र से प्रकाश में आया है जहां एक मां न सिर्फ किसी के प्यार में अंधी हुई बल्कि विरोध करने वाली अपनी मासूम पुत्री को ही मौत के घाट उतार दिया। कलयुगी इस मां की करतूत से क्षेत्र में चर्चा का विषय हैं। बताते चलें कि घटना के बाद उस समय हड़कंप मच गया जब डलमऊ थाना क्षेत्र के अंतर्गत बलभद्र पुर गांव में मंगलवार की सुबह खेतों के बीच बने हुए एक बच्ची का शव मिलने से पूरे क्षेत्र में खलबली मच गई। बताया जाता है कि मृतक की मां रेनू पत्नी संतोष कुमार बलभद्र पुर जो अपनी मासूम आरुषि उम्र लगभग 5 वर्ष अपनी मां के साथ 31 मार्च को अपने नाना के घर दिबियापुर गई थी। वहीं मृतक मासूम ने अपनी मां को किसी सचिन यादव नामक आदमी के साथ देख लिया था जोकि मासूम बच्ची की मां का प्रेमी है। बच्ची ने अपनी मां से कहा कि हम घर जाकर सबको बता देंगे तब दोनों प्रेमी घबरा गए और मासूम को रास्ते से हटा दिया और उसे मौत के घाट उतार कर गांव के ही कुएं में डाल दिया था।

हिरासत में लिए गए प्रेमी सचिन व महिला ने पूछताछ में वारदात को कबूल किया है कि उसके द्वारा अवैध संबंध सामाजिक स्तर पर ना खुल सके इसलिए उसने प्रेमी के संग मिलकर बच्ची को मौत के घाट उतार दिया है। शव को कब्जे में लेकर पीएम परीक्षण के लिए भेज दिया गया है।