Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

थानाध्यक्ष की सूझबूझ से जेल जाने से बचा निर्दोष, नहीं तो....




नसीराबाद। रायबरेली। कोरोना वायरस जैसी महामारी के चलते जहां एक तरफ पुलिस की ड्यूटी चौगुना बढ़ गई है वही भागदौड़ की जिंदगी में सच्चाई को पकड़ पाना पुलिस के लिए बड़ी चुनौती से कम नहीं है कुछ ऐसा ही थानेदार नसीराबाद ने कर दिखाया है जिस तरह से षड्यंत्रकारी व दुष्कर्मी पिता अपनी सगी पुत्री के साथ घिनौना खेल कर रहा था और सगे बेटे को जेल भिजवा कर बहु के साथ भी रंगरेलियां मनाने की चाहत मन में पाल रखा था उसे थानाध्यक्ष की सूझबूझ ने चकनाचूर कर दिया यही वजह है कि एक निर्दोष बेटा जेल जाने से बच गया।