Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

पर्चा वापसी को लेकर बवाल,असलहे लहराए, नामजद में भाजपा किसान मोर्चा के अवध क्षेत्र संयोजक व पूर्व प्रमुख का बेटा शामिल




बाराबंकी। ब्लाक प्रमुख पद पर निर्विरोध निर्वाचन का खेल बनाने और बिगाड़ने के चक्कर मे जमकर बवाल हुआ। मारपीट हुई वाहनों के शीशे टूटे असलहों का प्रदर्शन हुआ।पुलिस ने पूर्व ब्लाॅक प्रमुख दृगपाल सिंह के बेटे सहित पांच नामजद व अन्य के खिलाफ अपहरण, बलवा, मारपीट व संपति के नुकसान की धारा मंे मुकदमा दर्ज किया है।दोनों पक्ष के नौ लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया गया है। नामजद लोगों में भाजपा किसान मोर्चा के अवध क्षेत्र के संयोजक भी शामिल है।एसपी यमुना प्रसाद भी बवाल व तनाव को देखते हुए मौके पर पहुंचे।मामला ब्लाक टिकैतनगर का है। यहां क्षेत्र पंचायत सदस्य की चिर्रा सीट से पूर्व ब्लाॅक प्रमुख प्रभावती सिंह प्रत्याशी है। इस सीट पर छह अन्य लोगों ने भी नामांकन किया था।प्रभावती सिंह के बेटे रत्नेश उर्फ मिंटू सिंह ने इस सीट पर अपनी मां को निर्वारोध निर्वाचित कराने के लिए अन्य दावेदारों को पटा लिया और वह बीडीसी से नाम वापसी के लिए तैयार हो गए। एक अन्य प्रत्याशी साढ़ेमऊ की उर्मिला मौर्य के बेटे सुमित ने भी 40 हजार रुपये लेकर नाम वापसी की हामी भर ली।यह बात जब इस क्षेत्र से ब्लाॅक प्रमुख पद के दावेदार व निर्वतमान प्रमुख दीपक सिंह को पता चली तो उन्होंने उर्मिला मौर्य का पर्चा वापस न होने के लिए ताकत झोंक दी।दर्ज कराई गई गई एफआईआर में उर्मिला के अनुसार रविवार को नाम वापसी में उनको पर्चा वापस लेना था।इस बीच शनिवार की रात करीब आठ बजे उनके बेटे सुमित ने फोन करके बताया कि उसका दीपक सिंह के भाई व भाजपा किसान मोर्चा के अवध क्षेत्र के संयोजक सुधीर सिंह,अपने साथी सोनू सिंह,आरिफ व अमान के साथ बंधक बना लिया है।यह लोग कह रहे है कि नाम वापसी न लो।इसके बाद यहीं लोग उसको कार से उठाने के लिए गांव पहुंच गए।उर्मिला ने साथ जाने से मना किया तो विवाद शुरु हो गया। ग्रामीणों मंे घिरते देखकर सुधीर आदि वापस चले गए।फिर रात ढ़ाई बजे उर्मिला को मौके से उठाने का प्रयास किया गया।यह बात इस पद की दावेदार रहीं प्रभावती के बेटे रत्नेश को पता चली तो वह भी रात में ही आमने सामने हो गए।इस बीच जमकर मारपीट हुई।वाहनों के शीशे तोड़ दिए गए।दोनों पक्षों ने असलहांे का प्रदर्शन किया।इस बीच पुलिस पहुंच गई और दोनों पक्ष भाग खड़े हुए।इधर उर्मिला रविवार को ब्लाॅक पूरेडलई गई और अपना पर्चा वापस ले लिया।इससे प्रभावती सिंह निर्वारोध निर्वाचित हो गई।पुलिस ने वारदात में मिंटू सिंह,सोनू सिंह, सुशील, राजन, शक्ति, धनंजय, सौरव, सुमित,रामनरेश यादव को गिरफ्तार किया है।एएसपी साउथ मनोज पांडेय ने बताया कि मामले में नौ लोगों को हिरासत में लिया गया है।