Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

अब साइकिल की सवारी करेंगे के.के सचान, समाजवादी पार्टी में शामिल हुए बसपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष


वर्तमान समय में कांग्रेस पार्टी में थे केके सचान


मिथिलेश कटियार ने भी ज्वाइन की समाजवादी पार्टी


ब्यूरो कार्यालय (कानपुर):कांग्रेस नेता और बसपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष के.के सचान ने समाजवादी पार्टी ज्वाइन कर ली। लखनऊ में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में केके सचान ने सपा की सदस्यता ग्रहण की। उनके साथ महिला नेत्री मिथिलेश कटियार ने भी सपा की सदस्यता ली। सूत्रों की मानें तो 2022 के विधान सभा चुनाव में समाजवादी पार्टी दिग्गज नेता के.के सचान को कानपुर देहात की किसी भी सीट से अपना प्रत्याशी बना सकती है। कहा ये भी जा रहा है कि कुर्मी बाहुल्य विधान सभा सीटों पर केके सचान और मिथिलेश कटियार सपा का किला मजबूत करने का काम करेंगे। केके सचान वर्ष 2007 में जौनपुर की मड़ियाव विधान सभा सीट से चुनाव जीतकर पहली बार विधायक बने थे। 2017 में श्रावस्ती जनपद से उन्होंने चुनाव लड़ा लेकिन जीत नहीं सके।


 


जानकारों की मानें तो पूर्व सांसद राकेश सचान लोकसभा चुनाव से पहले सपा को बॉय-बॉय बोलते हुए कांग्रेस में शामिल हो गए। कांग्रेस के टिकट पर राकेश फतेहपुर से लोकसभा का चुनाव लड़े लेकिन हार का मुंह देखना पड़ा। फिलहाल इन दिनों राकेश सचान कांग्रेस में काफी एक्टिव हैं। प्रियंका गांधी के वे सलाहकार भी हाल में बनाए गए हैं। राकेश के जाने के बाद से सपा में कुर्मी बिरादरी पर मजबूत पकड़ रखने वाले नेता का अकाल सा हो गया था। यही वजह है कि पिछले कुछ महीने से के.के सचान से सपा हाईकमान लगातार टच में था। के.के सचान भी कांग्रेस में शामिल थे।


 


मौके की नजाकत को भांपते हुए उन्होंने सोमवार को लखनऊ में पूर्व मुख्यमंत्री और सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में सपा की सदस्यता ले ली। उनके साथ मिथिलेश कटियार ने भी सपा ज्वाइन किया। बड़े सूत्रों की मानें तो इन दोनों नेताओं को सपा 2022 के चुनाव में प्रत्याशी बना सकती है। कानपुर देहात के साथ-साथ कानपुर की घाटमपुर और फतेहपुर की जहानाबाद विधान सभाएं कुर्मी बाहुल्य हैं। यही वजह है कि दोनों नेताओं को सपा जल्द ही जमीनी स्तर पर जनता के बीच संघर्ष के लिए उतार सकती है।