Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

संपूर्ण समाधान दिवस इकौना का आयुक्त ने किया आकस्मिक निरीक्षण, बीआरसी केंद्र के रंगाई-पुताई का मजदूरी न देने पर आयुक ने एबीएसए को लगाई फटकार


श्रावस्ती। देवीपाटन मंडल आयुक्त एसबीएस रंगाराव ने मंगलवार को तहसील इकौना में आयोजित संपूर्ण समाधान दिवस का आकस्मिक निरीक्षण किया।इस अवसर पर उन्होंने संपूर्ण समाधान दिवस पर आए शिकायत कर्ताओं द्वारा कोविड-19 प्रोटोकॉल का अनुपालन किए जाने की स्थिति का अवलोकन कर खुद शिकायत सुनकर उसके गुणवत्ता पूर्ण निस्तारण के निर्देश सम्बन्धित अधिकारियों को दिए। आयुक्त के समक्ष चक मार्ग चालू कराने, आवास व पेंशन दिलाए जाने, अवैध ढंग से विद्युत बिल आने, पारिवारिक लाभ योजना का पैसा हड़प लेने, मजदूरी न मिलने तथा राशन कार्ड से नाम काट देने आदि से संबंधित शिकायतें प्राप्त हुई।


जिस पर आयुक्त ने संबंधित अधिकारियों को जांच कर नियमानुसार तत्काल कार्रवाई करने का निर्देश दिया। आयुक्त के समक्ष ग्राम गोविंदपुर की मालकिन देवी द्वारा अवैध कब्जा किए जाने की शिकायत की गई। जिस पर आयुक्त ने उपजिलाधिकारी व क्षेत्राधिकारी को मौके का निरीक्षण कर आवश्यक कार्रवाई करने का निर्देश दिए। थाना गिलौला अंतर्गत रामपुर पेड़ा निवासिनी एक महिला ने छेड़खानी के मामले में एफआईआर न दर्ज होने की शिकायत की। जिसपर आयुक्त ने थानाध्यक्ष गिलौला को कड़ी फटकार लगाते हुए प्राथमिक दर्ज करने का आदेश दिया। वहीं श्रमिक विनोद कुमार, बाबू राम तथा रक्षा राम द्वारा शिकायत किया गया कि उनके द्वारा बीआरसी केंद्र इकौना व गिलौला की रंगाई-पुताई का कार्य करवा कर मजदूरी नहीं दी जा रही है। इस पर आयुक्त ने कड़ा रुख अपनाते हुए सहायक बेसिक शिक्षा अधिकारी को तत्काल पैसा दिलवाने का निर्देश दिया। इस दौरान आयुक्त को इकौना के संपूर्ण समाधान दिवस से संबंधित 45 मामले लंबित मिले। जिस में सर्वाधिक ग्यारह मामले खंड विकास अधिकारी इकौना के थे। इसी प्रकार तहसीलदार इकौना के पास 6, पूर्ति निरीक्षक इकौना के पास 5 तथा अन्य अधिकारियों के पास एक से लेकर 4 मामले लंबित थे। जिसपर आयुक्त ने संबंधित अधिकारियों को शीघ्र निस्तारण का निर्देश दिया। इस अवसर अपर जिलाधिकारी श्रावस्ती योगानंद पाण्डेय, उप जिलाधिकारी इकौना राजेश कुमार मिश्र तथा तहसीलदार इकौना शिव ध्यान पांडेय सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।