Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

किसान के मर्डर से दहशत,ईंट-पत्थर और धारदार हथियार से प्रहार कर की गई हत्या


ककवन में किसान के मर्डर से दहशत


ईंट-पत्थर और धारदार हथियार से प्रहार कर की गई हत्या


खेत की रखवाली करने रात्रि को पहुंचा था खुशीलाल


गुरुवार सुबह बेटी खेत पहुंची तो हत्या का पता चला


ब्यूरो कार्यालय (कानपुर):बिल्हौर सर्किल के ककवन थाना क्षेत्र स्थित गहदेवा रोड पर खेत की रखवाली कर रहे किसान की बेरहमी से हत्या कर दी गई। गुरुवार सुबह खेत पर पहुंची बेटी ने पिता की रक्तरंजित लाश देखी तो चीख पड़ी। बेटी के चीखने-चिल्लाने पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। सूचना पर पहुंची ककवन पुलिस हत्या के पीछे तमाम बिन्दुओं पर छानबीन कर रही है।


ककवन निवासी खुशीलाल कुशवाहा (58) खेती-बाड़ी के साथ राजमिस्त्री का काम भी करते थे। भाई राजू ने पुलिस को बताया कि बुधवार रात खुशीलाल गहदेवा रोड के किनारे गांव से एक किलोमीटर दूर खेत पर कटी पड़ी धान की फसल की रखवाली करने गए थे । सुबह खुशीलाल जब घर नहीं पहुंचे तो बेटी मोहिनी पिता को बुलाने के लिए खेत पहुंची। मोहिनी की निगाह बिस्तर के नीचे पहुंची तो उसकी चीख निकल गई। खुशीलाल का रक्तरंजित शव देख मोहिनी चीखने-चिल्लाने लगी। भागते हुए मोहिनी गांव पहुंची और परिजनों व ग्रामीणों को घटना की जानकारी दी। हत्या की खबर मिलते ही गांव में दहशत फैल गई। ग्रामीणों के मुताबिक खुशीलाल के चेहरे और सिर पर धारदार हथियार के साथ-साथ ईंट और पत्थर से प्रहार कर हत्या की गई।


सूचना पर ककवन थाने की फोर्स भी मौका-ए-वारदात पर पहुंची। फॉरेंसिक टीम ने साक्ष्य एकत्र किए। ककवन एसओ अमित कुमार मिश्रा ने बताया कि प्राथमिक जांच में अभी हत्या की वजह सामने नहीं आई है। घरवालों ने किसी से रंजिश न होने की बात कही है। तहरीर मिलने पर मुकदमा पंजीकृत कर आवश्यक कार्रवाई की जाएगी। हत्याकांड के पीछे तरह-तरह की चर्चाएं ग्रामीणों के बीच हो रही हैं। चर्चा है कि दीपावली में छोटा बेटा जुएं में काफी रकम हार गया था।


चार साल पहले हुई थी पत्नी की मौत


खुशीलाल के पत्नी नन्ही देवी की चार साल पहले मौत हो गई थी। परिवार में बेटे लालजीत, शिवपाल और बेटी मोहिनी हैं। परिजनों के मुताबिक खुशीलाल के पास करीब 12 बीघा खेती है। किसान कर वह किसी तरह परिवार की जीविका चला रहे थे। एक बेटे और बेटी की खुशीलाल शादी कर चुके हैं। छोटे बेटे और बेटी की शादी अभी नहीं हुई है। गांव में खुशीलाल की किसी से रंजिश भी नहीं थी। पुलिस के मुताबिक हत्याकांड में किसी करीबी का हाथ प्रतीत हो रहा है।