Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

ग्राम प्रधान के देहांत होने के बाद प्राथमिक विद्यालय पर गांव के विकास के लिए तीन सदस्य समिति का चयन


जमुनहा-श्रावस्ती। विकास खण्ड जमुनहा के ग्राम पंचायत रानीसीर में गांव के प्रधान के देहांत होने के बाद बृहस्पतिवार को प्राथमिक विद्यालय पर गांव के विकास के लिए तीन सदस्य समिति का चयन करने के उद्देश्य से एसडीएम जमुनहा की अध्यक्षता में हुई बैठक के दौरान उपस्थित 13 में से 10 ग्राम पंचायत सदस्यों की सहमति से तीन सदस्यीय समिति का चयन किया गया है। दरअसल ग्राम पंचायत रानीसीर के ग्राम प्रधान ननकू वर्मा का 23 मार्च 2020 को देहांत हो गया था। इसके दो माह बाद तत्कालीन डीएम यशु रुस्तगी ने ग्राम पंचायत के विकास कार्यो को सुचारू रूप से गति देने के लिए ग्राम पंचायत सदस्य बेचन को 6 माह के लिए कार्यवाहक प्रधान नियुक्त किया था। जिसपर ग्राम पंचायत सदस्य मोल्हे ने 15 में से 10 सदस्यों की सहमति से नाराजगी दिखाते हुए कोर्ट की शरण ली थी। जिसपर एक दिसम्बर 2020 को इलाहाबाद खंडपीठ लखनऊ ने यह आदेश दिया था कि प्रधान के मृत्यु के बाद विकास कार्यो हेतु अस्थाई व्यवस्था के अंतर्गत तीन सदस्यीय समिति के चयन हेतु ग्राम पंचायत के सदस्यों की खुली बैठक कर तीन सदस्यीय समिति का गठन किया जाए। जिसपर जिलाधिकारी टीके शीबू ने एसडीएम जमुनहा जेपी चौहान को ग्राम पंचायत सदस्यों की बैठक कर तीन सदस्यीय समिति के चयन का निर्देश दिया। जिसपर आज एसडीएम जमुनहा जेपी चौहान ने एडीओ पंचायत सुरेंद्र वर्मा, ग्राम विकास अधिकारी शिवकुमार वर्मा और राकेश वर्मा की उपस्थित में तय कार्यक्रम के अनुसार ग्राम पंचायत सदस्यों की बैठक बुलाई। जिसमे चौदह सदस्यों में से एक सदस्य अनुपस्थित रहे। शेष तेरह सदस्य मौजूद रहे। इस दौरान ग्राम पंचायत सदस्य किशोरी लाल ने तीन सदस्यीय समिति के लिए मोल्हे का प्रस्ताव किया। वहीं ग्राम पंचायत सदस्य शहादत ने हुसैन का प्रस्ताव किया तो वही ग्राम पंचायत सदस्य इंताज अली ने गुलशन का प्रस्ताव किया। जिसका 9 सदस्यों ने समर्थन किया। जिसमें मोल्हे, हुसैन और गुलशन जहाँ को तीन सदस्यीय समिति में चयन किया गया।