Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

प्रोटोकॉल तोड़कर डीआइजी से मिलीं कानपुर की महापौर, डीआइजी से बोलीं महापौर, चकेरी एसओ को तत्काल हटाएं

 


प्रोटोकॉल तोड़कर डीआइजी से मिलीं कानपुर की महापौर

डीआइजी से बोलीं महापौर, चकेरी एसओ को तत्काल हटाएं

दो दिन पहले चट्टा हटवाने पहुंची महापौर पर भीड़ ने किया था पथराव

ब्यूरो कार्यालय (कानपुर):कानपुर के चकेरी में चट्टों पर कार्रवाई करने को पहुंची नगर निगम की टीम पर पथराव से आक्रोशित महापौर प्रमिला पांडेय प्रोटोकॉल तोड़कर खुद डीआइजी डॉ. प्रीतिंदर सिंह से मिलने पहुंचीं। उन्होंने चकेरी इंस्पेक्टर की भूमिका संदिग्ध बताते हुए उन्हें तत्काल हटाने की मांग की। महापौर के साथ मौजूद पार्षदों ने उनके लिए सुरक्षा मांगी। वहीं डीआइजी ने महापौर से आग्रह किया कि ऐसी कार्रवाई में वह खुद न जाकर सीधे अधिकारियों को मौके पर भेजा करें।

चकेरी के गदियाना में महापौर प्रमिला पांडेय नगर निगम के दस्ते के साथ चट्टे हटाने पहुंची थीं। इस बीच भीड़ ने पथराव कर दिया। एक पत्थर लगने से महापौर भी जख्मीं हो गईं थीं। शुक्रवार को महापौर इस मामले में डीआइजी से मिलने पहुंचीं। उन्होंने डीआइजी से कहा कि चकेरी इंस्पेक्टर की भूमिका पूरे घटनाक्रम के दौरान ठीक नहीं थी। वह सक्रियता दिखाते तो विवाद ही नहीं होता।

डीआइजी ने जब उनसे ऐसे अभियानों में अफसरों को भेजने का आग्रह किया तो महापौर ने कहा कि अधिकारी मौके पर कहीं जा ही नहीं रहे। महापौर ने कहा कि एक सप्ताह के लिए वह नहीं जाएंगी, देखें कितने कार्य होते हैं। इस दौरान उनके साथ पार्षद विकास जायसवाल, दीपक शर्मा, यशपाल सिंह, सौरव देव, नवीन पंडित, जितेंद्र सचान, पप्पू पांडेय, अरविंद यादव, गुरु नारायण गुप्ता, अजय पांडेय, मेनका सेंगर, दिनेश तिवारी आदि मौजूद रहे।

कांग्रेस विधायक सोहेल अंसारी महापौर से मिले

कानपुर। महापौर प्रमिला पांडेय से मिलने उनके आवास पर कैंट विधायक सोहेल अंसारी भी पहुंचे। उनके साथ पूर्व पार्षद अहसान भी थे, जिन पर गुरुवार को विवाद भड़काने का आरोप लगा था। सोहेल अंसारी ने महापौर से आग्रह किया कि अहसान पर कार्रवाई ना कराएं। इस पर महापौर ने कहा कि जो भी नियमानुसार होगा, वही किया जाएगा। दूसरी तरफ बीजेपी विधायक अभिजीत सिंह सांगा भी महापौर का हालचाल लेने पहुंचे।