Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

मंडलायुक्त व डीएम ने सरकारी तालाबों पर कब्जा करने वाले आरोपितों के खिलाफ सख्त कार्रवाई किये जाने का दिया निर्देश

ब्यूरो कार्यालय (सरसौल):नर्वल तहसील में मंगलवार को संपूर्ण समाधान दिवस पर मंडलायुक्त डा राजशेखर, आईजी मोहित अग्रवाल, डीएम आलोक तिवारी, एसएसपी डा प्रितिंदर सिंह समेत सीडीओ डा महेन्द्र कुमार ने लोगों की शिकायतों को सुना। जिसमें ज्यादातर अवैध कब्जे के मामले में सामने आये। मंडलायुक्त व डीएम ने सरकारी तालाबों पर कब्जा करने वाले आरोपितों के खिलाफ सख्त कार्रवाई किये जाने का भी निर्देश दिया।


मंगलवार सुबह सभी अधिकारी नर्वल तहसील पहुंचे। जहां पर उन्होंने ग्रमीणों की समस्याओं को सुना। इस दौरान सरसौल निवासी श्रवण कुमार शुक्ला व रानू शुक्ला ने सरसौल के प्राचीन तालाब पर भूमाफिया द्वारा मिट्टी की पुराई कर अवैध कब्जे की शिकायत की। जिस पर मंडलायुक्त व डीएम ने एसडीएम नर्वल को किसी भी सरकारी तालाब या अन्य संपत्ति पर अधैव कब्जा करे लोगों पर सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया। डीएम ने कहा कि एक माह के अंदर समस्याओं को निस्तारित करें। 


इसके अलावा दीपापुर निवासी हरिनाम व कृष्णकुमार ने अन्ना मवेशियों की समस्या के चलते गांव में अधूरे पड़े अस्थायी गोसंरक्षण केंद्र को जल्द चालू कराने की मांग की। रहनस निवासी अवधेश तिवारी ने धान क्रय केन्द्र में धान न खरीदे जाने की शिकायत की। साढ़ निवासी राजेश कुमार ने सरकारी जमीन पर प्रधान व लेखपाल की मिलीभगत से अवैध कब्जे की शिकायत की। मंडलायुक्त ने अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि शिकायतों का निस्तारण समय से व गुणवत्तापरक होना चाहिए। 


उन्होंने कहा कि पिछली शिकायतों के निस्तारण की क्रास चेकिंग भी कराई जाएगी। संपूर्ण समाधान दिवस में एसडीएम रिजवाना शाहिद, तहसीलदार अमित गुप्ता, शिव किशोर तिवारी समेत अन्य अधिकारी मौजूद रहे।


 लेखपाल को लगाई फटकार


समाधान दिवस के दौरान लेखपाल मोहित सचान शिकायतकर्ताओं को अधिकारियों के जाने से पहले ही रोककर उनकी शिकायतों को पढ़कर अंदर जाने दे रहे थे। तभी डीएम को इसकी जानकारी मिली तो उन्होंने लेखपाल को फटकार लगाई और कक्ष से बाहर कर दिया।