Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

फेसबुक पर बनी महिला दोस्‍त के चक्‍कर में पड़कर करोड़पति बनने का सपना देख गवाएं 18.53 लाख रुपए, फिर.....?




जनपद देवरिया में रहने वाले एक इंजीनियर ने फेसबुक पर बनी महिला दोस्‍त के चक्‍कर में पड़कर करोड़पति बनने का सपना देखा और 18.53 लाख रुपए गंवा दिए। अब पुलिस ने इंजीनियर को साइबर थाने पर बुलाकर इस मामले में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। मिली जानकारी के अनुसार यह घटना पिछले साल जून की है। फेसबुक पर इंजीनियर सत्‍यप्रकाश की इस महिला दोस्त ने अपना नाम एलिजावेथ लिली मार्कस बताया था। उसने खुद को रिजर्व बैंक आफ इंडिया का अधिकारी बताया और इंजीनियर का मोबाइल नंबर मांग लिया। इसके बाद दोनों के बीच व्हाट्सएप पर भी बात होने लगी। महिला ने इंजीनियर को रिजर्व बैंक के मार्केटिंग से जुड़कर काम करने का ऑफर दिया। उसने कहा कि इस काम से जल्‍द ही करोड़ों की आय होगी। पश्चिम बंगाल में तैनात इंजीनियर फेसबुक पर दोस्‍त बनी इस महिला के झांसे में आ गए। एक दिन महिला ने एटीएम कार्ड भेजने के नाम पर 38800 रुपये मांग लिए। तब सत्य प्रकाश ने स्टेट बैंक की सलेमपुर शाखा से केनरा बैंक में किसी नंदा गोपाल कुंडू के खाते रुपए भेज दिए।

 कुछ दिन बाद उनके घर डाक से एटीएम कार्ड पहुंच गया। इंजीनियर का विश्‍वास हासिल करने के बाद महिला ने एक करोड़ रुपये का चेक भेजने के बदले में 20 लाख रुपये टैक्स के रूप में जमा करने को कहा। महिला के इस झांसे में आकर इंजीनियर ने अलग-अलग बैंकों के खाते में 18.53 लाख रुपए ऑनलाइन भेज दिए। इसके बाद एक बार फिर महिला ने पांच लाख रुपये की मांग की। तब इंजीनियर सत्य प्रकाश को शक हुआ कि कहीं वह ठगी के शिकार तो नहीं हो रहे। तब उन्होंने घटना की सूचना पुलिस को दी लेकिन पुलिस ने मुकदमा दर्ज नहीं किया। तब इस मामले की शिकायत प्रधानमंत्री कार्यालय से की गई। इस पर पुलिस अधिकारियों ने मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई का आदेश दिया। इस आदेश पर पुलिस ने इंजीनियर को गोरखपुर साइबर थाने पर बुलाकर केस दर्ज कर लिया है।