Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

इटियाथोक की 4 व रूपईडीह की 5 जिला पंचायत सीटें तय करेंगी भविष्य



खरगूपुर, गोण्डा। पंचायत चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के नेताओं की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है। जिला पंचायत सदस्य सीटों पर विधायक ने भी काफी मेहनत की है, जिसका नतीजा 2 मई को सामने आने वाला है।इटियाथोक में 4 व रुपईडीह ब्लाक में 5 जिला पंचायत की सीटें हैं। यहां पर भारतीय जनता पार्टी ने काफी मशक्कत के बाद प्रत्याशी घोषित किया था। एक-एक सीट पर दो से चार लोग अपनी दावेदारी कर रहे थे, लेकिन अंतिम समय में नेताओं ने भारतीय जनता पार्टी के अलावा दूसरे दलों से आए कार्यकर्ताओं को भी समर्थन दे दिया।पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के निर्देश की वजह से विधायक के परिजन भी जिला पंचायत का चुनाव लड़ने से वंचित हो गए। एक सीट पर पूर्व ब्लाक प्रमुख व दो सीटों पर मंडल अध्यक्षों को समर्थन देकर मैदान में उतारा गया। इन सीटों पर पार्टी के नेताओं व कार्यकर्ताओं की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है। दोनों विकास खंडों में भारतीय जनता पार्टी के क्षेत्रीय विधायक व जिले के पदाधिकारियों ने कार्यकर्ताओं के साथ कई बैठकें कर रणनीति तैयारी की। विधायक ने भी पार्टी समर्थित प्रत्याशियों के लिए मत मांगे। इसके बावजूद बताया जा रहा है कि पार्टी समर्थित प्रत्याशी मुख्य लड़ाई में नहीं आ सके। दो सीटों पर कार्यकर्ता चुनाव में उतर गये।अधिकतर स्थानों पर पदाधिकारियों के चुनाव में पार्टी के एजेंडे का पालन करने के बजाय अलग रास्ता चुनने की चर्चा हो रही है। कमोबेश यही हाल बाकी सभी सीटों का भी रहा। यहां पार्टी समर्थित प्रत्याशियों को मुख्य लड़ाई में आने के लिए खूब पसीना बहाना पड़ा। हालांकि अब 2 मई को परिणाम आने के बाद ही वास्तविक स्थिति का पता चल सकेगा। भाजपा के एक जिला पदाधिकारी ने बताया कि चुनाव में सहयोग न करने वालों को चिन्हित कर सूची तैयार की जा रही है। ऐसे लोगों के विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी।