Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

दर्जनों की संख्या में दबंगो ने बोला धावा , महिलाओं व बच्चों ने दरवाजा बंद कर तो पुरुषों ने भागकर बचाई जान



जौनपुर। लाइनबाजार थाना क्षेत्र के पांडेय पुरुषोत्तमपुर गांव में मंगलवार की रात दर्जनों की संख्या में मनबढ़ घर पर चढ़ आए। महिलाओं व बच्चों ने दरवाजा भीतर से बंद कर तो पुरुषों ने भागकर जान बचाई। बेला देवी हत्याकांड के आरोपितों में से एक के नदी में डूबे भाई का शव मिलने के बाद हुई घटना को लेकर तनाव के मद्देनजर गांव में पुलिस जवान तैनात कर दिए गए हैं। गत वर्ष नौ अक्टूबर को पट्टीदारी के विवाद में लाठी-डंडे से पिटाई किए जाने से गंभीर रूप से घायल बेला देवी पत्नी राम लखन यादव की इलाज के दौरान चार दिन बाद वाराणसी में मौत हो गई थी। पुलिस ने गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कर किया था। तीन आरोपित जेल में हैं जबकि एक हाईकोर्ट से जमानत पर छूटा है। आरोपितों में एक पवन यादव का भाई पंकज यादव गत सोमवार को कलीचाबाद में गोमती नदी में डूब गया था। मंगलवार को बरामद हुआ शव घर पहुंचा। इसके बाद करीब दो दर्जन की संख्या में आक्रोशित लोग लाठी डंडा लेकर राम लखन यादव के घर धमक पड़े। शीतला चौकियां पुलिस चौकी प्रभारी विनोद अंचल मयफोर्स पहुंचे तो हमलावर फरार हो चुके थे।