Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

चार मौत की सूचना पर भाऊपुर गांव पहुंचे डीएम, एसएसपी बोले गांव में किसी प्रकार का न हो सामूहिक आयोजन



मिल्कीपुर (अयोध्या)।हैरिंग्टनगंज ब्लाक क्षेत्र के भाऊपुर गांव में अचानक हुई चार मौतों के बाद सोमवार को डीएम और पुलिस कप्तान सहित जिले के आलाधिकारियों ने गांव का दौरा किया।डीएम अनुज झा ने कहा कि क्षेत्र में कोई आयोजन नहीं होना चाहिए। यदि किसी को सर्दी, खांसी, बुखार है तो वह छुपाए नहीं, उसकी तुरंत जांच कराए। उन्होंने अधीनस्थों को निर्देश दिया कि कोरोना गाइडलाइन के पालन में किसी भी तरह की कोताही कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। कहा कि 45 वर्ष से ऊपर आयु के लोग अपने नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर जाकर कोरोना वैक्सीन का टीका लगवाकर कोरोना नियंत्रण में सहयोग करें। किसी को कोई दिक्कत हो तो हेल्पलाइन 7081670802 पर बात करें। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि यदि किसी को कोई दिक्कत हो तो वह स्थानीय आशा कार्यकर्ता एवं एएनएम से भी संपर्क करें। वहीं भाऊपुर गांव में सोमवार को 83 लोगों की कोविड-19 की जांच की गई। जिसमें से 11 लोग पॉजिटिव पाए गए। रविवार को 100 लोगों की जांच हुई थी। जिसमें 13 लोग पॉजिटिव पाए गए थे। इस घटना से इलाके में हड़कंप है। लोगों का मानना है कि यह मौतें कोरोना संक्रमण की वजह से हुई हैं। गांव को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। बताया गया कि सोमवार को कोरोना जाँच में आनाकानी करके भागने वाले चार लोगों को पुलिस ने दौड़ाकर पकड़ कर जांच करवाया। बताया गया कि सभी मृतकों के गले में खरास और दर्द के साथ साँस लेने में दिक्कत और जुकाम बुखार की शिकायत थी। गांव में अभी दर्जनों लोग बीमार बताये जा रहे हैं। प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर डीएन द्विवेदी ने बताया कि दो दिनों में की गई 183 लोगों की जांच में पॉजिटिव पाए गए सभी 24 लोगों को उनके घरों में क्वॉरेंटाइन कर दिया गया है। स्वास्थ्य कार्यकर्ता द्वारा। प्रतिदिन उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली जा रही है।भाऊपुर में 19 मार्च से 27 मार्च तक महेश तिवारी उर्फ सोनू सिकरेट्री के यहां श्रीमद् भागवत कथा का कार्यक्रम था। जिसमें इनकी एक महिला रिश्तेदार लखनऊ से आई थीं। लोगों का कहना है कि वह सर्दी जुकाम से संक्रमित थीं। इनके सम्पर्क में कई लोग आये हैं।